CM शिवराज बने कार्यकर्ता:प्रशिक्षण शिविर में मंच पर नहीं गए मुख्यमंत्री, कार्यकर्ताओं के बीच बैठकर वक्ताओं को सुना

भोपाल.टीटी नगर मंडल का प्रशिक्षण शिविर नर्मदा भवन में आयोजित किया गया, जिसमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पहुंचे। मुख्‍यमंत्री मंच पर जाने के बजाय कार्यकर्ताओं के बीच जाकर बैठ गए। सीएम 11:30 बजे प्रशिक्षण शिविर में पहुंचे थे। इस दौरान टीकमगढ़ के पूर्व अध्यक्ष अभय प्रताप सिंह आत्मनिर्भर भारत सत्र को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने उनकी बातों केवल सुना ही नहीं, बल्कि डायरी में नोट भी किया। मुख्यमंत्री यहां करीब आधा घंटा रुके। बता दें कि पूरे प्रदेश के एक हजार मंडलों में कार्यकर्ता प्रशिक्षण शिविर चल रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मंडल स्तर पर प्रशिक्षण शिविर पूरे प्रदेश में चल रहे हैं। मैं भी एक कार्यकर्ता हूं। हर कार्यकर्ता प्रशिक्षण वर्ग में हिस्सा ले रहे हैं। मुख्यमंत्री हो या फिर प्रदेश अध्यक्ष, सभी पहले पार्टी के कार्यकर्ता हैं। सीएम होने के यह मतलब नहीं कि केवल भाषण देना है। मैं इस मंडल के प्रशिक्षण में इसलिए शामिल हुआ, क्योंकि मेरा निवास इस क्षेत्र में आता है। उन्होंने कहा कि वैचारिक प्रशिक्षण देकर हमारे कार्यकर्ता को केवल इसलिए नहीं है कि बीजेपी में हमें कोई पद प्राप्त करना है। सत्ता के स्वर्ण सिंहासन पर बैठना है। विशिष्ट लक्ष्य प्राप्त करने के लिए बीजेपी है। उन्होंने बताया कि गृहमंत्री अमित शाह करनावती विधानसभा में पेज प्रभारी हैं। मैं भी बुधनी विधानसभा क्षेत्र में पेज प्रभारी बनूंगा। घर-घर जाना केवल कार्यकर्ता का काम नहीं, नेताओं की जिम्मेदारी भी है। इससे पहले प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा 3 दिसंबर को पंचशील नगर मंडल के प्रशिक्षण शिविर में बतौर प्रशिक्षार्थी शामिल हुए थे।

टीटी नगर के प्रशिक्षण शिविर में कार्यकर्ताओं को राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ाया गया। वक्ताओं ने बताया कि चीन के सामान का बहिष्कार करें। स्वदेशी सामान का उपयोग ज्यादा से ज्यादा करने के लिए लोगों में जनजागरण अभियान चलाएं। लोकल के लिए वोकल का प्रचार कैसे किया जाए, इसकी जानकारी कार्यकर्ताओं को दी गई। इस दौरान मुख्य रूप से मोदी सरकार के अहम फैसलों की जानकारी दी गई। कृषि कानूनों को लेकर फैलाए जा रहे भ्रम काे दूर करने के लिए किसानों के बीच जाकर उन्हें बताने को कहा गया कि किस तरह यह कानून उनके जीवन में बदलाव ला सकता है। सरकार के कामों की जानकारी के साथ-साथ शिवराज सरकार के फैसलों की जानकारी भी कार्यकर्ताओं को दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort