6 महीने बाद आज से स्कूलों में पढ़ाई:भोपाल में कोरोना के डर से बड़े प्राइवेट स्कूल नहीं खुले; कुछ सरकारी स्कूल खुले, लेकिन बच्चे कम ही पहुंचे

राजधानी भोपाल में 6 महीने बाद आज से स्कूल खुले। लेकिन, कोरोना के डर और गाइडलाइन क्लियर न होने की वजह से शहर के बड़े प्राइवेट स्कूल नहीं खुले। शासन की गाइडलाइन के अनुसार, 21 सितंबर यानि शनिवार से स्कूल खुलने के बाद 9वीं से 12वीं तक के बच्चों को डाउट क्लीयरिंग के लिए स्कूल में आने की अनुमति दी गई है, लेकिन यह क्लियर नहीं किया गया है कि कितने बच्चे एक साथ बुलाए जाएंगे। इस पर प्राइवेट स्कूल प्रबंधन और अभिभावकों के बीच असमंजस की स्थिति बनी हुई है।
कार्मेल कॉन्वेंट स्कूल, सागर पब्लिक स्कूल, आईपीएस, द संस्कार वैली स्कूल और जवाहर लाल नेहरू हायर सेकेंडरी स्कूल भेल 21 सितंबर से नहीं खुले। इन स्कूलों ने अभिभावकों से बातचीत करने के बाद तय किया है कि फिलहाल ऑनलाइन पढ़ाई ही कराई जाएगी, स्कूल नहीं खोले जाएंगे। हालांकि शहर के कुछ सरकारी स्कूल खुले और वहां बच्चों को पूरे एहतियात के साथ प्रवेश दिया गया। बच्चों की संख्या काफी कम रही। होशंगाबाद रोड स्थित ज्ञान गंगा इंटरनेशनल एकेडमी में 9वीं के बच्चों को आज डाउट क्लीयरिंग के लिए बुलाया गया।

सरकारी स्कूल खुले, लेकिन बच्चे कम ही पहुंचे
होशंगाबाद रोड स्थित मिसरोद हायर सेकेंडरी स्कूल और शासकीय गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल-2 हमीदिया रोड खुले, लेकिन यहां पर बच्चे बेहद कम संख्या पहुंचे। इसके पहले स्कूलों को सैनिटाइज किया गया, सभी क्लासेस की बेंच और कुर्सियों को, करीब-करीब पूरे स्कूल को सैनिटाइज किया गया। होशंगाबाद रोड स्थित ज्ञान गंगा इंटरनेशनल एकेडमी प्रबंधन ने आज से स्कूल खोल दिया। वहां पर बच्चे भी अच्छी तादाद में पहुंचे। बच्चों को पूरे एहतियात के साथ अंदर प्रवेश दिया गया। स्कूल में एक बेंच पर एक ही छात्र को बिठाया गया। उसके पहले कैंपस में उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग में खड़ा किया गया।

जवाहर लाल नेहरू स्कूल में 22 से बोर्ड सप्लीमेंट्री एग्जाम
जवाहर लाल नेहरू स्कूल में बोर्ड के सप्लीमेंट्री एग्जाम 22 से 28 सितंबर तक ऑफलाइन कराए जाएंगे, जिसकी वजह से स्कूल को फिलहाल बंद ही रखा जाएगा। शासन की क्लियर गाइडलाइन आने के बाद भेल प्रबंधन स्कूल खोलने का निर्णय लेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort