18 आईएएस अफसरों के तबादले, भोपाल निगम आयुक्त और 7 जिलों के कलेक्टर बदले

भोपाल. राज्य सरकार ने पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के समय सीएए-एनआरसी का विरोध करने वाले मंडला कलेक्टर जगदीश चंद्र जटिया सहित देवास, धार, नरसिंहपुर, रीवा, सिंगरौली और आगर-मालवा के कलेक्टरों को हटा दिया। ये सभी कांग्रेस की सरकार के समय कलेक्टर पदस्थ किए गए थे। इनके अलावा भोपाल नगर निगम आयुक्त बी. विजय दत्ता और इंदौर कमिश्नर आकाश त्रिपाठी का भी तबादला कर दिया गया है। दत्ता की जगह सिंगरौली कलेक्टर वीएस चौधरी कोलसानी और त्रिपाठी की जगह नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण इंदौर के आयुक्त (फील्ड) डॉ. पवन कुमार शर्मा को नया कमिश्नर बनाया गया है।

सरकार ने इलैया राजा टी, चंद्रमौली शुक्ला, वेद प्रकाश पर फिर भरोसा दिखाया है। इन्हें कुछ अंतराल के बाद दोबारा कलेक्टर पदस्थ किया गया है। इंदौर में त्रिपाठी को मप्र पावर मैनेजमेंट कंपनी का एमडी बना दिया गया है। अब तक एमडी का पदभार संभाल रहे नितेश कुमार व्यास को जिम्मेदारी से मुक्त कर दिया गया है। दूसरी ओर, नगरीय विकास विभाग ने खंडवा नगर पालिका निगम के आयुक्त हिमांशु सिंह के पूर्व में भोपाल नगर निगम अपर आयुक्त के पद पर किए गए ट्रांसफर को संशोधित कर दिया है।

उन्हें अब छिंदवाड़ा नगर पालिका आयुक्त बना दिया है। उल्लेखनीय है कि फरवरी में एसिड अटैक पर बनी फिल्म ‘छपाक’ को मप्र में टैक्स फ्री करने को लेकर मंडला कलेक्टर रहे जटिया ने सोशल मीडिया पर लिखा था कि तुम चाहे जितनी घृणा करो, हम देखेंगे छपाक। इस पर एक यूजर ने टिप्पणी की थी कि जेएनयू के लोग जो सीएए और एनआरसी का विरोध कर रहे हैं और कुछ अभिनेता उनका समर्थन। इसके जवाब में जटिया ने लिखा था कि उन्हें अपने विवेक का इस्तेमाल करना आता है। वे सीएए व एनआरसी का सपोर्ट नहीं करते।

हालांकि, विवाद बढ़ने के बाद उन्होंने इस पोस्ट को न सिर्फ हटा दिया, बल्कि इस संबंध में कुछ भी कहने से इनकार कर दिया था। तब शिवराज सिंह चौहान ने राज्यपाल लालजी टंडन को पत्र लिखकर और तत्कालीन भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने सरकार से कलेक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। डीओपीटी द्वारा जानकारी मांगे जाने की भी खबरें थीं। हालांकि इसके बाद कलेक्टर बरकरार रहे। मप्र में भाजपा की सरकार बनने के बाद से ही उन्हें हटाए जाने की अटकलें थीं। शनिवार की सूची में उन्हें हटा दिया गया।

भोपाल नगर निगम की सर्जरी
दत्ता के पहले नगर निगम में दो अपर आयुक्त कमल सोलंकी और राजेश राठौर भी बदले जा चुके हैं। चीफ सिटी प्लानर एसएस राठौर का भी तबादला हो चुका है। बताया जा रहा है कि हाल ही में निगम में कुछ इंजीनियरों के तबादले हुए थे, जिसे आयुक्त ने रद्द करने के साथ यह आदेश भी निकाल दिया था कि बिना उनकी जानकारी के कोई ट्रांसफर न किए जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.