सोनिया गांधी ने बुलाई विपक्षी दलों की बैठक, इन पार्टियों ने बनाई दूरी

नई दिल्ली। शुक्रवार, 22 मई 2020: कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कोरोना संकट से निपटने के लिए लगाए गए लॉकडाउन से प्रभावित प्रवासी श्रमिकों की समस्याओं पर चर्चा के लिए आज विपक्षी दलों की बैठक बुलाई है। इस बैठक में सरकार द्वारा घोषित आर्थिक पैकेज पर चर्चा हो सकती है। जानकारी के अनुसार वाडियो कांफ्रेसिंग के जरिये बुलाई गई इस बैठक का उद्देश्य समान विचार वाले दलों को एक मंच पर लाना और अपने घरों को लौट रहे लाखों प्रवासी श्रमिकों की समस्याओं का समाधान तलाशना है।

सोनिया गांधी की अध्यक्षता होने वाली इस बैठक में शामिल होने के लिए 17 विपक्षी दलों ने सहमति दी है। बैठक में किसानों की समस्याओं और उत्तर प्रदेश सहित भाजपा शासित राज्यों में श्रम कानूनों में बदलावों पर भी विचार विमर्श होगा। सूत्रों के अनुसार आज दोपहर तीन बजे होने वाली इस वर्चुअल मीटिंग में हिस्सा लेने के लिए अभी तक समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने सहमति नहीं दी है। कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी ने कई विपक्षी नेताओं को व्यक्तिगत स्तर पर कॉल किया और प्रवासी मजदूरों के मुद्दे के समादान के लिए संयुक्त रणनीति बनाने में सहयोग देने का अनुरोध किया।

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने पूछे जाने पर इसके बारे में कहा कि जब भी कोई गंभीर मुद्दा आता है, सोनिया गांधी और राहुल गांधी सामने आते हैं। देश की सबसे बड़ी संस्था संसद को किनारे कर दिया गया है। संसदीय निगरानी लगभग गायब हो चुकी है। लोकतांत्रिक संस्थाएं कमजोर कर दी गई हैं। वे लोकतंत्र के लिए अपनी जिम्मेदारी नहीं निभा पा रही हैं।

बता दें कि कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने से रोकने के लिए गत 25 मार्च से देश में लॉकडाउन लगने के बाद बड़ी संख्या में श्रमिक बड़े शहरों से अपने घर जाने के लिए पैदल निकल गए हैं। कई जगहों पर हुई दुर्घटनाओं में कई मजदूरों की मौत भी हो गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *