सितमगर सितंबर:भोपाल में आज 291 नए केस मिले

राजधानी भोपाल में शुक्रवार को कोरोना के 291 नए केस मिले हैं। ये बीते छह महीने एक दिन में सबसे ज्यादा संक्रमित मिलने के मामले हैं। भोपाल में 22 मार्च को पहला केस मिला था। अब कोरोना का डबलिंग रेट भी बढ़ गया है। यहां पर अब 42 दिन में केस दोगुने हो रहे हैं। पहले 50 दिन में दोगुने केस हो रहे थे। राजधानी में 24 घंटे में 8 मरीजों की मौत हुई है। ये भी एक दिन में कोरोना संक्रमण से मरने का सबसे ज्यादा आंकड़ा है।
शिवराज कैबिनेट में पीएचई मंत्री ऐंदल सिंह कंषाना कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। वह भोपाल में अपने बंगले पर क्वारैंटाइन हो गए हैं। मंत्री कंषाना ने लोगों से अपील की है कि पिछले दिनों उनके संपर्क में आए लोग कोविड टेस्ट करा लें। कार्यालय ने दी मंत्री के कोरोना संक्रमित होने के सूचना। बता दें कि इन दिनों कंषाना अपने क्षेत्र सुमावली में लगातार जनसभाएं कर रहे थे, वह इस दौरान हजारों लोगों के संपर्क में आए थे।
सितंबर के 18 दिन में अब तक भोपाल में 4287 केस मिल चुके हैं। ये अगस्त के मुकाबले 30 फीसदी ज्यादा हैं। अब भोपाल में कुल संक्रमितों की संख्या 15 हजार 456 हो गई है। हालांकि राहत वाली बात ये है कि रिकवरी रेट में भी सुधार हुआ है। अब हर रोज जितने कोरोना केस मिल रहे हैं, उसके 78 फीसदी मरीज ठीक हो रहे। राजधानी में अब तक कोरोना संक्रमण से 363 की मौत हो चुकी है।
तब 135 दिन में हुए थे 7486 मरीज
शहर में अब 42 दिन में केस दोगुने हो रहे हैं। पहला मरीज 22 मार्च को मिला था। इसके बाद 135 दिनों में 5 अगस्त को मरीजों की संख्या 7486 हो गई थी। जबकि इसके बाद के 42 दिन में ही 7414 मरीज बढ़ गए। जून के 15 दिनों से लेकर जुलाई तक भोपाल में कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम थी, लेकिन जुलाई के आखिरी हफ्ते से शुरू हुआ संक्रमण अब लगातार बढ़ रहा है। अगस्त में औसतन हर रोज 150 केस मिल रहे थे तो सितंबर में ये बढ़कर 216 हो गया है।

शहर में कहां बढ़ा संक्रमण
अभी शहर का सबसे बड़ा हॉट स्पॉट कोलार बन गया है। यहां कोरोना के 218 मरीज हैं। वहीं कभी हॉट स्पॉट रहे मंगलवारा क्षेत्र से सुखद खबर है। यहां पर हफ्तेभर से एक भी केस नहीं मिला है। कमला नगर में 193, टीटी नगर में 165 और बागसेवनियां में 142 एक्टिव केस, लेकिन जहांगीराबाद में 36 कोरोना संक्रमण पुराने शहर की अपेक्षा नए शहर में तेजी से फैल रहा है। आलम यह है कि कुल 1751 एक्टिव केस में से 218 अकेले कोलार थाना क्षेत्र में हैं। यही नहीं, कमला नगर में 193, टीटी नगर में 165 और बागसेवनियां में 142 एक्टिव केस हैं। जबकि, पुराने शहर में हालात तेजी से सुधर रहे हैं। कभी सबसे बड़े हॉट स्पॉट रहे जहांगीराबाद में अब महज 36 एक्टिव केस हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.