संक्रमण के 567 केस और 11 मौतें: तेलंगाना के सीएम बोले- लॉकडाउन नहीं माना तो देखते ही गोली मारने का आदेश देना पड़ेगा

नई दिल्ली बुधवार 25 मार्च 2020 . देश के 24 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश कोरोना संक्रमण की चपेट में हैं। संक्रमितों की संख्या बुधवार सुबह तक 567 हो गई, अब तक 11 लोगों की जान गई है। तमिलनाडु के मदुरै में सुबह 54 वर्षीय संक्रमित मरीज ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। कोरोना के सबसे ज्यादा 109 मामले केरल में हैं, जबकि महाराष्ट्र (101) दूसरे नंबर पर है। मंगलवार आधी रात से अगले 21 दिनों के लिए सभी राज्यों में लॉकडाउन रहेगा। इस बीच तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने कहा कि लोग लॉकडाउन का उल्लंघन न करें। अमेरिका में इसके लिए सेना बुलानी पड़ी थी, अगर हमारे यहां हालात काबू में नहीं आए तो नियम तोड़ने पर देखते ही गोली मारने का आदेश देना पड़ सकता है।

लॉकडाउन और कर्फ्यू लागू कराने के लिए पुलिस मुस्तैद है। गृह मंत्रालय के अनुसार लॉकडाउन का नियम तोड़ने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इसमें एक से दो साल की जेल के अलावा कुछ मामलों में जुर्माने का भी प्रावधान है।
मध्य प्रदेश के इंदौर में 6 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें से 5 लोग इंदौर के और एक उज्जैन का रहने वाला है।
गुजरात में क्लास 1 से 9 तक और 11 वीं के छात्रों को बिना परीक्षा के ही अगले क्लास में प्रोमोट कर दिया जाएगा।
गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को राज्य और जिला स्तर पर 24 घंटे काम करने वाला कंट्रोल रूम बनाने के लिए कहा।
महान एयरलाइन्स का विमान ईरान के तेहरान शहर से 277 भारतीयों को लेकर जोधपुर एयरपोर्ट पहुंचा। सभी लोगों को जांच के लिए सेना के क्वारैंटाइन सेंटर ले जाया गया।
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा है कि राज्य में सभी जरूरी सामान की दुकानें सुबह 7 से 10 बजे तक खुली रहेंगी। 10 बजे के बाद लाॅकडाउन सख्ती से लागू होगा।
दिल्ली सरकार ने कहा है कि कोरोना के इलाज में लगे डॉक्टर, पारामेडिकल और स्वास्थ्य कर्मचारियों पर घर खाली करने का दबाव बनाने वाले मकान मालिकों पर कार्रवाई होगी।
छत्तीसगढ़ में सरकार ने सभी गरीब परिवारों को अप्रैल और मई महीने में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत मुफ्त चावल देने की घोषणा की है।
उत्तरप्रदेश-दिल्ली बोर्डर पर पुलिस की बैरिकेडिंग जारी है। पुलिस केवल जरूरी सामान वाली गाड़ियों को जाने की इजाजत दे रही है।
तेलंगाना के पंचायज राज शिक्षक यूनियन के सदस्यों ने कोरोना से निपटने के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में 16 करोड़ रुपए दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.