श्री वीरेंद्र की मृत्यु से दुखी हूँ : मंत्री डॉ. मिश्रा

भोपाल : गृह, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने भोपाल निवासी वीरेंद्र की मृत्यु पर दुख जताया है। उन्होंने कहा है कि श्री वीरेंद्र अपने इलाज के लिये 5 दिन तक दिल्ली में भटकते रहे। यदि उन्हें समय पर इलाज मिल जाता तो उनकी जान बचाई जा सकती थी।

डॉ. मिश्रा ने बताया कि दिल्ली से लौटने के बाद श्री वीरेन्द्र की हालत गंभीर होने के बाद भी प्रदेश सरकार ने श्री वीरेन्द्र को समुचित उपचार उपलब्ध कराकर बचाने के समस्त प्रयास किए, लेकिन अत्यधिक विलंब हो जाने कारण नहीं बचाया जा सका।

मध्यप्रदेश सरकार ने कोरोना वायरस के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए सभी आवश्यक इंतजाम पर्याप्त मात्रा में किये हैं। आज प्रदेश में रिकवरी रेट 68 प्रतिशत से ज्यादा है। प्रदेश में कोरोना से बचाव और उपचार की तैयारी वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के दिशा निर्देशों के अनुरूप की गई है। वर्तमान में प्रदेश के अस्पतालों में 80 हजार बेड की व्यवस्था है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.