श्रद्धा के टुकड़े करने में इस्तेमाल हथियार बरामद

उसकी अंगूठी भी आफताब ने दूसरी गर्लफ्रेंड को गिफ्ट कर दी थी

श्रद्धा मर्डर केस में 17 दिन बाद दिल्ली पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली। पुलिस ने सोमवार को श्रद्धा की हत्या में इस्तेमाल हथियार बरामद कर लिया। न्यूज एजेंसी ANI ने दिल्ली पुलिस सूत्रों के हवाले से बताया- श्रद्धा की वो अंगूठी भी बरामद कर ली गई है, जिसे आफताब ने मर्डर के बाद दूसरी लड़की को गिफ्ट दिया था।

ये लड़की मर्डर के बाद आफताब के फ्लैट पर भी आई थी। उस दौरान श्रद्धा की बॉडी के टुकड़े फ्लैट में ही फ्रिज में मौजूद थे। पुलिस ने कहा था कि डेटिंग ऐप के जरिए आफताब ने दूसरी गर्लफ्रेंड से कॉन्टैक्ट किया था।

इधर, आफताब अमीन पूनावाला का पॉलीग्राफ टेस्ट थोड़ी देर पहले शुरू हो चुका है। उसे तिहाड़ जेल से सोमवार सुबह रोहिणी स्थित फोरेंसिक साइंस लैब (FSL) लाया गया। अब तक आफताब के 3 पॉलीग्राफ टेस्ट हो चुके हैं। पहला टेस्ट 22 नवंबर, दूसरा 24 और तीसरा 25 नवंबर को हुआ था। आफताब से 40 सवाल पूछे जा चुके हैं।

अब 3 नए दावे…

1. दोस्तों को ब्रेकअप की कहानी सुनाई: मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि श्रद्धा को मारने के बाद आफताब मुंबई में उसके दोस्तों से मिला था और उन्हें ब्रेकअप की कहानी सुनाई थी।

2. हत्या में दूसरे व्यक्ति ने साथ दिया: श्रद्धा की हत्या करने में आफताब का साथ एक व्यक्ति ने दिया था। दिल्ली पुलिस को शक है कि इसी व्यक्ति ने सबूत मिटाने में भी आफताब की मदद की। फिलहाल, पुलिस इसके बारे में जानकारी जुटा रही है। हालांकि यह पता नहीं चला है कि उसने यह थ्योरी किस आधार पर बनाई।

3. ड्रग पैडलर ने आफताब को ड्रग्स दी: गुजरात पुलिस ने एक ड्रग पैडलर फैजल मोमिन को गिरफ्तार किया है। उसने दावा किया है कि वह आफताब को ड्रग्स सप्लाई करता था। आफताब नशीली दवाओं का इस्तेमाल करता था, या नहीं। इसे भी जांच में शामिल किया जाएगा।

श्रद्धा मर्डर केस में नई जानकारियां 5 पॉइंट्स में…

1. जेल के बाहर 24 घंटे तैनात रहेगा गार्ड
आफताब फिलहाल तिहाड़ में कैद है। जेल सूत्रों के हवाले से मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया कि आफताब जेल की सेल नंबर 4 में अकेला ही रहेगा। सूत्रों ने कहा कि अलग सेल में एक ही कैदी रहेगा और वो जल्द इस सेल से नहीं हटाया जाएगा। आफताब को खाना पुलिस की मौजूदगी में ही दिया जाएगा। उसकी सेल के बाहर 24 घंटे एक गार्ड तैनात रहेगा। यहां 8 CCTV कैमरे लगे हैं। इन कैमरों से आरोपी की 24 घंटे निगरानी होगी।

2. आफताब ने पॉलीग्राफ टेस्ट की पहले से रिहर्सल की
हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक आफताब ने पॉलीग्राफ टेस्‍ट की पहले से रिहर्सल की थी। एक अधिकारी ने कहा कि ऐसा लग रहा है, जैसे आफताब को पहले से पता था कि किस तरह के सवाल पूछे जाएंगे। वह कुछ सवालों का जवाब बड़ी बेबाकी से दे रहा है, लेकिन मर्डर से जुड़े सवालों पर चुप्पी साध लेता है या फिर झूठ बोलने लग जाता है।

3. कोर्ट ने थर्ड डिग्री के बारे में पूछा, आफताब बोला- मैं ठीक हूं
आफताब को अंबेडकर अस्पताल ले जाया गया। यहीं से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उसकी कोर्ट में पेशी हुई। कोर्ट ने उससे पुलिस की थर्ड डिग्री के बारे में पूछा तो आफताब ने कहा कि मैं ठीक हूं। उसने कहा कि दिल्ली पुलिस अच्छा बर्ताव कर रही है। मैं भी जांच में सहयोग कर रहा हूं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आफताब ने कोर्ट को बताया कि श्रद्धा उसे हमेशा उकसाती रहती थी। उस दिन भी जो हुआ, वह गुस्से में हुआ।

4. जंगल से मिली हड्डियां श्रद्धा की ही
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक फोरेंसिक जांच में पता चला है कि जंगल से मिली हड्डियां श्रद्धा की ही हैं। उनका DNA श्रद्धा के पिता से मैच हो गया है। अब पुलिस को रिपोर्ट्स का इंतजार है। स्पेशल CP (लॉ एंड ऑर्डर) सागर प्रीत हुड्डा ने कहा कि अभी तक DNA टेस्ट रिपोर्ट (पीड़ित के पार्ट्स की) नहीं मिली है।

5. आफताब का परिवार भी हत्या में शामिल
श्रद्धा के पिता विकास वालकर ने CBI जांच की मांग की है। एक न्यूज चैनल के साथ इंटरव्यू के दौरान उन्होंने कहा- आफताब अभी भी पुलिस को गुमराह कर रहा है और इस मामले की CBI जांच होनी चाहिए।

साथ ही उन्होंने कहा कि आफताब का परिवार भी इसमें शामिल है। आफताब के माता-पिता उसकी हरकतों के बारे में जानते थे। वो जानते थे कि आफताब श्रद्धा के साथ मारपीट करता है। उन्हें मुझे इस बात की जानकारी देनी चाहिए थी, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। उन्होंने दावे के साथ कहा कि आफताब का परिवार भी इस हत्या में शामिल है।

8 मई को हुआ था श्रद्धा का मर्डर
दिल्ली पुलिस के मुताबिक 28 साल के आफताब ने 18 मई को 27 साल की श्रद्धा का मर्डर कर दिया था। दोनों लिव-इन में रहते थे। आफताब ने श्रद्धा के शव के 35 टुकड़े किए थे। इन्हें रखने के लिए 300 लीटर का फ्रिज खरीदा था। वह 18 दिन तक रोज रात 2 बजे जंगल में शव के टुकड़े फेंकने जाता था।

श्रद्धा मर्डर केस से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें…

1. आफताब ने कत्ल से पहले दृश्यम देखी थी, पार्ट-2 का इंतजार कर रहा था

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, आफताब ने माना है कि उसने श्रद्धा के कत्ल से पहले बॉलीवुड फिल्म दृश्यम देखी थी, उसे पार्ट-2 का भी इंतजार था। FSL सूत्रों के मुताबिक, दृश्यम देखकर ही वो मर्डर के बाद एक कहानी गढ़ने की फिराक में था।

2. पीटने के 5 दिन बाद श्रद्धा को अस्पताल लाया आफताब, डॉक्टर बोले- चल भी नहीं पा रही थी

मुंबई के ओजोन अस्पताल के डॉ. शिवप्रसाद शिंदे ने मीडिया को बताया है कि 3 दिसंबर 2020 को श्रद्धा उनके पास इलाज कराने आई थी। उसके शरीर पर जो चोटें थीं, वो फिजिकल वॉयलेंस के चलते ही आती हैं, लेकिन उसने कुछ भी खुलकर नहीं बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *