शिवराज सरकार के मंत्रियों से मुलाकात कर रहे हैं मोहन भागवत; सिंधिया समर्थक किसी मंत्री को बातचीत के लिए नहीं बुलाया

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत इन दिनों भोपाल में हैं। वे सोमवार रात यहां पहुंचे थे और पांच दिन रुकेंगे। 3 दिन संघ के कोर ग्रुप यानी प्रमुख विचारकों की बैठक लेंगे। इसका आज दूसरा दिन है। आमतौर पर संघ की बैठकों का एजेंडा जारी नहीं किया जाता। बैठक में ही तय होता है कि मीडिया को क्या जानकारी देनी है।

इस बीच, सूत्रों ने बताया है कि संघ प्रमुख फिलहाल, शिवराज सरकार के मंत्रियों से वन-टू-वन बातचीत कर रहे हैं। खास बात ये है कि अभी तक सिंधिया समर्थक किसी मंत्री को नहीं बुलाया गया है।

मंत्रियों को भोपाल में रहने के आदेश

भागवत के भोपाल में रहने की वजह से भाजपा ने राज्य सरकार के सभी मंत्रियों को राजधानी में ही रहने के निर्देश दिए हैं। भागवत ने मंगलवार दोपहर स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार को बैठक स्थल शारदा विहार बुलाया। उनसे एक घंटे अकेले में चर्चा की। रात में उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव से बातचीत की। अरविंद भदौरिया खुद भागवत से मिलने पहुंचे। बताया जा रहा है कि संघ प्रमुख बुधवार को दो-तीन मंत्रियों से मुलाकात कर सकते हैं।

आरएसएस से जुड़े मंत्रियों को तरजीह

भागवत ने अब तक जिन मंत्रियों को बातचीत के लिए बुलाया है, वे सभी या तो स्वयंसेवक रहे हैं या किसी दूसरे रूप में संघ से जुड़े रहे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह भी बुधवार शाम भागवत से मिल सकते हैं। जानकारी के मुताबिक, संघ प्रमुख का अभी तक कांग्रेस छोड़कर आए सिंधिया समर्थक मंत्रियों से मिलने का कोई कार्यक्रम नहीं है।

इस बार संघ कार्यालय नहीं जाएंगे भागवत
आरएसएस प्रमुख पहले जब भी भोपाल आए तो अरेरा कॉलोनी स्थित संघ कार्यालय में ही ठहरते थे। लेकिन, यहां रहने वाले तीन प्रचारकों को पिछले दिनों कोरोना संक्रमित पाया गया था। लिहाजा, इस बार भागवत यहां नहीं रुके। भागवत से जितने लोग भी मिल रहे हैं, उनका मेडिकल चेकअप किया जा रहा है। इनकी ट्रैवल हिस्ट्री भी नोट की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort