शिवराज ने कहा- ग्रामीण अंचल में अधोसंरचना विकास के साथ रोजगार भी मिला; कमलनाथ पर तंज भी कसा, मैं सिर्फ घोषणा नहीं करता हूं, काम भी करता हूं

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा 106 करोड़ 4 लाख रुपए लागत से निर्मित 1584 अधोसंरचनाओं का रविवार सुबह 10 बजे वर्चुअल लोकार्पण किया। मिंटो हाॅल में शिवराज ने लोकार्पण कार्यक्रम में कुछ जिलों के पंचायत प्रधानों से ग्रामीण क्षेत्र के विभिन्न मसलों पर चर्चा भी की।

उन्होंने एक बार फिर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर तंज कसते हुए कहा कि मैं सिर्फ घोषणा कर नारियल नहीं फोड़ता हूं। काम भी करता हूं। सरकार बनने के बाद मैं फिर से यहां पर कार्य देखने आऊंगा। आज ज्यादा नहीं बोलूंगा, क्योंकि अभी प्रधानमंत्री का कार्यक्रम होने वाला है। वह देश के ग्रामीणों को सबसे बड़ी सौगात देने वाले हैं।

अधिकारियों ने पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने कोरोना आपदा के दौरान ग्रामीण अंचल में अधोसंरचना विकास के ऐसे कार्य प्रांरभ किए, जिनमें ग्राम विकास के साथ-साथ स्थानीय स्तर पर ग्रामीणों को रोजगार की उपलब्धता भी सुनिश्चित हुई है। ग्रामीण अंचलों में निर्मित की गई 106 करोड़ 4 लाख रुपए लागत से 1584 सर्व-सुविधा युक्त संरचनाओं में 44 करोड़ 21 लाख की लागत से 318 ग्राम पंचायत भवन, 34 करोड़ 6 लाख की लागत से 262 सामुदायिक भवन तथा 27 करोड़ 59 लाख रुपये की लागत से 1004 सामुदायिक स्वच्छता परिसर बनाए गए, जिनका वर्चुअल लोकार्पण आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया।

चुनाव का असर
लोकार्पित होने वाली यह सभी अधोसंरचनाएं प्रदेश के विधानसभा उप निर्वाचन वाले जिलों से अलग अन्य 33 जिलों की हैं। जिन जिलों में विधानसभा उप निर्वाचन हैं, वहां के निर्माण कार्य इस कार्यक्रम में शामिल नहीं किए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort