शहर में 80 जगह जलेगा रावण:दशहरे पर कहीं कुम्भकरण और मेघनाद गायब तो कहीं रावण के पुतले की ऊंचाई घटी, जानिए भोपाल में कब और कहां होगा दशानन का दहन

कोरोना काल के कारण कई त्योहार और आयोजन रद्द हो गए हैं। ऐसे में आपके मन में दशहरा के आयोजन को लेकर जिज्ञासा जरूर होगी। आपको बता दें कि शहर में प्रमुख रूप से करीब 80 जगह रावण दहन होगा, लेकिन आयोजन का स्वरूप बदला नजर आएगा। कहीं रावण के साथ कुंभकरण और मेघनाद के पुतले नहीं मिलेंगे तो कहीं दशानन की ऊंचाई कम हो गई है। शहर के छोला, विट्‌टन मार्केट, कोलार, टीटी नगर, नेहरू नगर, अयोध्या नगर, भेल दशहरा मैदान, बैरागढ़, अवधपुरी, करोंद और नीलबढ़ समेत कई कॉलोनियों में रावण होगा।
छोला दशहरा मैदान, शाम 7.30 बजे
हिंदू उत्सव समिति के कार्यवाहक अध्यक्ष कैलाश बेगवानी ने बताया इस बार मारवाड़ी रोड से सीमित रूप में पारम्परिक चल समारोह तीन ट्रॉलों के साथ निकलेगा। पहले 20 से 25 रहते थे। पिछले साल सवा लाख लोग शामिल हुए थे, इस बार पांच हजार लोग ही शामिल हो सकेंगे। रावण का पुतला 35 फीट, कुंभकर्ण का 30 और मेघनाद का 25 फीट का रहेगा। पिछले 60, 55 और 50 फीट के बनाए गए थे। चल समारोह के लिए समाजसेवी फूलसिंह माली को संयोजक और मुकेश पंथी तथा बलदेव शर्मा को प्रभारी नियुक्त किया है।
स्थान : कोलार, दहन शाम 6.30 बजे
रावण महज 12 फीट ऊंचा रहेगा। इस बार कुंभकर्ण, मेघनाद के पुतले नहीं रहेंगे। पिछली बार रावण 105 फीट ऊंचा बना था, कुंभकर्ण 65 और मेघनाद का पुतला 61 फीट का था। आतिशबाजी नहीं होगी। चल समारोह तीन ट्रॉलों के साथ निकलेगा। इस बार संख्या सीमित रहेगी। पिछले साल एक लाख से अधिक लोग शामिल हुए थे। कार्यक्रम 18 साल से हो रहा है। संयोजक रविंद्र यति ने बताया कि 12 फीट ऊंचे रावण के पुतले का ही सांकेतिक दहन किया जाएगा। कोरोना को देखते हुए यह निर्णय लिया है। इस आयोजन में समिति के पदाधिकारी ही आमंत्रित रहेंगे।
सांकेतिक आतिशबाजी होगी, 1 हजार लोग ही आ सकेंगे
यहां चल समारोह नहीं निकलेगा। पिछले साल 25 हजार लोग शामिल हुए थे। इस बार सिर्फ एक हजार लोग आ सकेंगे। पुलते की ऊंचाई में रावण 25 फीट रहेगा। कुंभकर्ण और मेघनाद के भी पुतले रहेंगे। पिछले साल तीनों की हाइट 55-55 फीट थी। आयोजन का 53वां साल है। संयोजक अजय श्रीवास्तव ने बताया सिर्फ 25 फीट ऊंचे रावण के पुतले का दहन किया जाएगा। कोरोना को देखते हुए यह निर्णय लिया है। आतिशबाजी का छोटा प्रदर्शन होगा, इस आयोजन में समिति के पदाधिकारी ही आमंत्रित रहेंगे। यह निर्णय समिति के राजेश वर्मा, सोनू भाभा, राकेश सिंघई और कमल जैन की सहमति से लिया गया।
नेहरू नगर में सैनिटाइजेशन और मास्क का इंतजाम
यहां 45 फीट ऊंचा रावण जलाया जाएगा। कुंभकर्ण 40 तो मेघनाद का पुतला 35 फीट का रहेगा। पिछले साल सभी के 50 फीट से ऊंचे थे। कार्यक्रम में महज समिति के और चयनित लोग शामिल हो सकेंगे। पहले 20 हजार के आसपास लोग पहुंचते थे। श्री लोक कल्याण समिति की ओर से कलियासोत दशहरा मैदान नेहरू नगर में इस बार 45, 40 और 35 फीट के रावण, मेघनांद और कुंभकर्ण के पुतलों का दहन किया जाएगा। आयोजन में शोभायात्रा नहीं निकाली जाएगी, सिर्फ रावण दहन कर राम का राज्याभिषेक किया जाएगा। प्रवेश द्वार पर सैनिटाइजर मशीन लगाई जाएगी और मास्क वितरित किए जाएंगे। दर्शकों के खड़े रहने के लिए दूरी भी निर्धारित रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.