रुझानों में NDA 127 सीटों के साथ बहुमत के पार, पुष्पम प्रिया बोलीं- EVM के वोट NDA को ट्रांसफर हो रहे

पटना.बिहार के रुझानों में NDA बहुमत के पार हो गया है। हालांकि, इसमें अभी पेंच फंसा हुआ है, क्योंकि दोपहर डेढ़ बजे तक सिर्फ 22% वोटों की गिनती हुई थी। यानी 4.10 करोड़ वोट में से 92 लाख वोट काउंट हुए थे। उधर, प्लूरल्स पार्टी की पुष्पम प्रिया चौधरी EVM हैकिंग का आरोप लगा रही हैं। उनका कहना है कि हर बूथ से EVM के वोट NDA को ट्रांसफर हो रहे हैं।

गजबे बिहार, घंटेभर में दो सरकार
इससे पहले, मंगलवार सुबह जब रुझान आना शुरू हुए तो तेजस्वी यादव का महागठबंधन आगे बना हुआ था। सुबह 9 बजे तक वह इतनी बढ़त हासिल कर चुका था कि सरकार आसानी से बन जाए, लेकिन एक घंटे बाद तस्वीर बदल गई और नीतीश कुमार ने बाजी पलट दी। NDA 120 सीटों के करीब पहुंचता दिखा और अगले आधे घंटे में उसने रुझानों में बहुमत का आंकड़ा छू लिया। भाजपा भी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी। सिर्फ भास्कर का एग्जिट पोल सही साबित होता दिख रहा है, जिसमें हमने बताया था कि NDA को 120 से 127 सीटें मिल सकती हैं।
काउंटिंग से जुड़े अपडेट्स

दोपहर डेढ़ तक 22% काउंटिंग: बिहार के चीफ इलेक्टोरल ऑफिसर एचआर श्रीनिवास ने दोपहर डेढ़ बजे मीडिया को बताया कि राज्य में 4.10 करोड़ वोट डाले गए थे। इनमें से 92 लाख वोटों की ही गिनती हुई है। आमतौर पर 25 से 26 राउंड में काउंटिंग होती है। इस बार हमें 35 राउंड तक काउंटिंग करनी होगी। इसलिए काउंटिंग शाम तक चलेगी।
सीटों पर कैसी मतगणना: 55 सीटों पर 1000 वोटों का अंतर है, जबकि 35 सीटों पर 500 से कम वोटों को मार्जिन है।
देरी से पहुंचा स्टाफ: सुबह 8 बजे से काउंटिंग शुरू होनी थी, लेकिन राजधानी पटना से आधा घंटा बीतने के बाद भी कोई अपडेट नहीं आ सका। स्टाफ काउंटिंग सेंटर पर देरी से पहुंचा। कई लोग मोबाइल लेकर आ गए थे। फिर नाश्ता करने में देरी हुई। सुबह 40 मिनट बीतने के बाद भी किसी प्रकार का रुझान नहीं दिया गया।
55 काउंटिंग सेंटर: पूर्वी चंपारण, सीवान, बेगूसराय और गया में तीन-तीन, नालंदा, बांका, पूर्णिया, भागलपुर, दरभंगा, गोपालगंज, सहरसा में दो-दो काउंटिंग सेंटर बनाए गए। 55 काउंटिंग सेंटरों में 414 हॉल बनाए गए।
बयानों से जुड़े अपडेट्स

पुष्पम प्रिया का EVM हैकिंग का आरोप: प्लूरल्स पार्टी की पुष्पम प्रिया चौधरी ने दोपहर 2 बजे फेसबुक पर लिखा कि बिहार में EVM हैक हो गई। प्लूरल्स वोट चुराकर हर बूथ पर वोट NDA को ट्रांसफर हो गए। डेटा साफ है। हमें तो बहुमत नहीं था, पर NDA को भी बहुमत नहीं था। प्लूरल्स के वोटों की चोरी ने उनका काम बना दिया।
राजद को जीत का भरोसा: राजद सांसद मनोज झा ने दोपहर डेढ़ बजे मीडिया से कहा कि हम आपसे कुछ घंटे में मिलेंगे और यह साबित कर देंगे कि हमने जो कहा था, वह कर दिखाया।
अगर जदयू हारेगी तो कोरोना की वजह से: जनता दल यूनाइटेड के नेता केसी त्यागी ने सुबह 10 बजे कहा कि एक साल पहले राजद को लोकसभा चुनाव में एक भी सीट नहीं मिली। लोकसभा चुनाव के हिसाब से तो जदयू और सहयोगी दलों को 200 से ज्यादा सीटें मिलनी थीं। एक साल में ब्रांड नीतीश को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। हम अगर हार रहे हैं तो वह सिर्फ कोरोना की वजह से।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *