राज्यसभा चुनाव 19 जून को / भोपाल में डिनर के बहाने अपने विधायकों की गिनती करेगी भाजपा, कांग्रेस ने विधायकों को मॉकपोल की जानकारी दी

भोपाल. राज्यसभा चुनाव में दो सीटों पर जीत तकरीबन तय होने के बाद भी भाजपा किसी भी तरह विधायकों के मामले में कोई ढिलाई नहीं रखना चाहती। इसीलिए वोटिंग 19 जून को होने के बाद भी भाजपा ने अपने सभी विधायकों से कहा है कि वे बुधवार को शाम तक भोपाल पहुंच जाएं। विधायकों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया है। सभी विधायकों का रात्रि भोजन भी पार्टी दफ्तर में रखा गया है, इसमें कितने विधायक पहुंचे, इसकी गिनती होगी। बुधवार को इसके पहले भाजपा के वरिष्ठ नेताओं की प्रदेश के पार्टी दफ्तर में बैठक शुरू हो गई है। इसमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा पहुंच गए।

आज दिल्ली से पर्यवेक्षक के तौर पर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बीजे पांडा और प्रदेश प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे भी शाम को 5 बजे भोपाल पहुंच रहे हैं। ये सभी तीन दिन तक भोपाल में ही डेरा जमाएंगे। ये नेता 19 जून की दोपहर बाद दिल्ली रवाना होंगे। भाजपा ने 18 जून को शाम 6 बजे विधायक दल की बैठक पार्टी दफ्तर में रखी है। इसमें राज्यसभा चुनाव का माॅकपोल होगा। पार्टी ने तमाम सीनियर नेताओं को यह जिम्मेदारी दे दी है कि वे अपने जिले व क्षेत्र के विधायकों के निरंतर संपर्क में रहें। राज्यसभा की दो सीटों पर भाजपा की ओर से ज्योतिरादित्य सिंधिया और सुमेर सिंह सोलंकी प्रत्याशी हैं। कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए नेता भी बैठक में पहुंच सकते हैं।

कांग्रेस विधायक दल की बैठक, कुणाल चौधरी नहीं ले पाए भाग

राज्यसभा के चुनाव की तैयारियों को लेकर बुधवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाई गई। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के निवास पर दोपहर 12 बजे से हुई बैठक में प्रदेश प्रभारी मुकुल वासनिक भी पहुंचे। बैठक में कांग्रेस के सभी विधायकों की उपस्थिति अनिवार्य की गई थी। विधायक कुणाल चौधरी के कोराेना संक्रमित होने से वे इसमें भाग नहीं ले सके। कांग्रेस को विधानसभा में संख्या बल के हिसाब से एक सीट मिलना पक्का है, लेकिन उसकी निगाहें दूसरी सीट पर हैं।

विधायकों को दी गई मॉकपोल की जानकारी

बैठक में माॅकपोल के जरिए विधायकों को वोट करने की जानकारी दी गई है। इसमें खासतौर पर प्रथम वरीयता में राज्यसभा के उम्मीदवार पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह का नाम रखा गया है, उन्हें कांग्रेस के कौन से 52 विधायक वोट करेंगे, यह तय किया जाएगा। दूसरे उम्मीदवार फूल सिंह बरैया को पहली वरीयता में डाले जाने वाले 52 विधायकों के बाद आगे के 40 विधायक वोट करेंगे। हालांकि दूसरी सीट के लिए कांग्रेस को मौजूदा विधायकों के अलावा 12 और विधायकों की जरूरत होगी, जो उसके पास नहीं हैं। कांग्रेस की निगाहें अभी भी 4 निर्दलीय और 2 बसपा और सपा के इकलौते विधायक की ओर है।

कुणाल चौधरी पीपीई किट पहनकर करेंगे वोट

कोरोना पॉजिटिव पाए गए कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी राज्यसभा चुनाव के लिए वोट करेंगे। उन्हें पीपीई किट पहनना होगी। वहां मौजूद अमला भी पीपीई किट पहनेगा। चौधरी ने कहा कि वोट देना उनका अधिकार है। जो भी प्रोटोकॉल है, उसका पालन करूंगा। एक के बजाय यदि दो किट भी पहनना पड़ी, तो भी वोट जरूर दूंगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *