यात्रीगण कृपया ध्यान दें… डिंपल भाभी को जिताएं

इटावा रेलवे स्टेशन पर किया गया अनाउंसमेंट, यात्री बोले- अब स्टेशन पर भी प्रचार होगा

यात्रीगण कृपया ध्यान दें… मैनपुरी से डिंपल भाभी को जिताएं। इटावा जंक्शन पर शनिवार रात करीब 11 बजे अचानक यह अनाउंसमेंट होने लगा। ऐसा 15 से 20 बार हुआ। स्टेशन पर मौजुद यात्रियों को पहले तो लगा कि कहीं स्टेशन पर चुनाव प्रचार तो नहीं हो रहा। लेकिन कई बार सुनने के बाद वे समझ गए कि इन्क्वायरी ऑफिस के माइक से ही ये अनाउंसमेंट हो रहा है।

नारे लगाने वालों की नहीं हो पाई है पहचान
घटना के दौरान स्टेशन पर मौजूद यात्रियों ने कहा कि पहली बार हम लोगों ने रेलवे के अनाउंसमेंट माइक से चुनाव प्रचार की आवाज सुनी। 15-20 बार डिंपल यादव के नारे लगे हैं। कई यात्रियों ने कहा कि क्या अब स्टेशन पर भी चुनाव प्रचार होगा? पुलिस उल्टा हम लोगों से पूछताछ कर रही है।

मौके पर मौजूद यात्रियों का कहना है कि रात के समय पूछताछ केंद्र खाली था। तभी कुछ लोगों ने वहां जाकर ये हरकत की है। हालांकि, उन लोगों की अभी पहचान नहीं हो पाई है।

यात्रियों ने मामले की पूछताछ खिड़की पर पहुंचकर शिकायत भी की है। मामला सामने आने के बाद रेलवे अधिकारी जांच में जुट गए। GRP भी अपने स्तर से पड़ताल कर रही है। हालांकि अभी तक यह साफ नहीं हो सका है कि ये हरकत किसने की है। रेलवे अधिकारी इस घटना को लेकर कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

भाजपा बोली- चुनाव आयोग से शिकायत करेंगे
भाजपा प्रत्याशी रघुराज सिंह शाक्य ने इस बात पर नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा कि सपा के लोग हार से पहले ही बौखला गए हैं। यह घटना दिखाती है कि उन लोगों ने अपनी हार मान ली है। हम लोग इस मामले में फैक्ट जमा कर रहे हैं। इसकी शिकायत चुनाव आयोग में भी की जाएगी।

वहीं रेलवे स्टेशन के CMI ने ऑफ रिकॉर्ड जानकारी देते हुए बताया- रात को ड्यूटी पर मौजूद कर्मचारियों ने सुबह मामले की जानकारी दी है। मंडल ऑफिस रिपोर्ट भेजी जाएगी, जिसके आधार पर आगे की कार्रवाई होगी।

पुलिस के आने से पहले ही संदिग्ध चले गए
अपने दोस्त को रात में स्टेशन पर छोड़ने आए चंद्रवीर सिंह ने बताया कि रेलवे यूनियन के कुछ कर्मी प्रयागराज जा रहे थे। इसी बीच कुछ कर्मियों ने रेलवे इन्क्वायरी के अंदर घुस कर के यह अनाउंसमेंट किया है। इसमें डिंपल यादव जिंदाबाद और उनको मैनपुरी चुनाव में वोट देने की नारेबाजी की जा रही थी। रात में ही GRP को इसकी सूचना दी गई। उनके आने से पहले ही सभी लोग चले गए थे।

मुलायम सिंह के निधन के बाद खाली हुई सीट
बता दें कि सपा के सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के निधन से खाली हुई मैनपुरी लोकसभा सीट पर 5 दिसंबर को उप चुनाव होना है। सपा ने पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव को अपना प्रत्याशी बनाया है। सैफई परिवार के लिए मैनपुरी सीट सियासत की सीढ़ी का काम करती है, नहीं इसका निर्णय उप चुनाव का परिणाम ही घोषित करेगा।

मैनपुरी चुनाव से जुड़ी हुईं ये खबरें भी पढ़ें..

शिवपाल बोले- अखिलेश गड़बड़ करें तो बहू तुम गवाह रहना

मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव को लेकर अखिलेश यादव और शिवपाल यादव एक हो गए हैं। शिवपाल ने डिंपल यादव को जिताने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है। वो घूम-घूम कर रैलियां और नुक्कड़ सभाएं कर रहे हैं। इस बीच एक नुक्कड़ सभा में शिवपाल ने परिवार को फिर से एक होने की वजह बताई।

अखिलेश ने छुए थे चाचा शिवपाल के पैर

यूपी के सैफई से रविवार को राजनीति की बेहद खास तस्वीर सामने आई। मौका था डिंपल यादव के समर्थन में हो रही जनसभा का। इसमें शिवपाल यादव और रामगोपाल यादव मौजूद थे। इसी बीच मंच पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव पहुंचते हैं और झुककर चाचा शिवपाल के पैर छू लेते हैं। शिवपाल भी बिना देर किए अखिलेश को जीत का आशीर्वाद दे देते हैं। डिंपल यादव के समर्थन में यह पहली रैली है, जिसमें शिवपाल पहुंचे।

कह रहे शिवपाल का शिष्य हूं, चेला भी नहीं हो

मैनपुरी लोकसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव को लेकर सोमवार को भी शिवपाल यादव ने अखिलेश यादव के साथ मंच साझा किया। शिवपाल के चुनाव क्षेत्र जसवंतनगर में हुई जनसभा में उन्होंने पहली बार बीजेपी प्रत्याशी रघुराज शाक्य पर निशाना साधा। शिवपाल ने बिना नाम लिए कहा कि वो कह रहे हैं कि मैं शिवपाल का शिष्य हूं लेकिन शिष्य तो दूर तुम चेला भी नहीं हो। शिष्य होते तो बता कर जाते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *