मां ही निकली बेटी की कातिल:भोपाल में तीन दिन पहले गोताखोर ने जिस महिला को बचाया था, वह बेटी को तालाब में फेंकने के बाद प्रेमी का इंतजार कर रही थी; उसे ही पति बताकर बच निकली थी

भोपाल में शुक्रवार सुबह शीतला माता मंदिर के पास पानी में मासूम का शव मिला था। उसकी हत्या उसकी ही मां ने की थी। भोपाल में मां के द्वारा अपनी ही बेटी की हत्या करने का यह दूसरा मामला है। गोताखोरों ने तीन दिन पहले यानी गुरुवार को वीआईपी रोड पर रो रही इसी महिला को मजबूर समझकर बचाया था। वह अपनी एक साल की मासूम बेटी की हत्या करने के बाद प्रेमी के इंतजार में खड़ी थी।
महिला फोन पर बात करने के दौरान रोते हुए बार-बार तालाब में झांक रही थी। ऐसे में गोताखोरों को लगा कि वह कुछ कर सकती है। करीब एक घंटे बाद उसका प्रेमी वहां पहुंचा, तो उसने उसे अपना पति बताया। विवाद की बात कहते हुए वह वहां से निकल गए। शनिवार को मासूम का शव वीआईपी रोड से काफी दूर दूसरे किनारे पर शीतला माता मंदिर के पास पानी में मिला था।
बेटी को लेकर भाग गई थी घर से

परिजन ने बताया कि 15-16 सितंबर की दरमियानी रात वह बेटी को लेकर घर से भाग गई थी। वह रायसेन अपने मायके चली गई थी, लेकिन 17 को वहां से भाग गई। उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट उन्होंने औबेदुल्लागंज थाने में कराई थी। थाना प्रभारी तलैया डीपी सिंह ने बताया कि सोशल मीडिया और ऑनलाइन समाचार के माध्यम से जानकारी परिजन तक पहुंच गई। शनिवार देर रात औबेदुल्लागंज ने पुलिस ने संपर्क किया था। इसके बाद परिजन ने यहां आकर उसकी शिनाख्त की।

इस तरह किया गोताखोरों को गुमराह

गोताखोर आसिफ ने बताया कि गुरुवार रात महिला राजा भोज की मूर्ति से कुछ पहले रेलिंग के पास खड़ी होकर फोन पर बात करते हुए रो रही थी। गोताखोर फैज उल्लाह ने अनहोनी को देखते हुए महिला का वीडियो बनाया और उससे बात की। उसने बताया कि उसका पति से विवाद हो गया है। उसके पति का नाम शिवम है। वह रायसेन से यहां आ रहा है।

फैज ने शिवम से बात की थी। उसके कहने पर फैज वहां करीब एक घंटे तक उसके आने का इंतजार करता रहा। शिवम वहां पहुंचा और बोला कि उनके बीच विवाद हो गया था। इसी गुस्से में वह यहां भाग गई। मैं अपनी जिम्मेदारी से उसे ले जा रहा हूं। अब वह कुछ नहीं करेगी। उसके बाद उन्होंने दोनों को वहां से जाने दिया।

गिरफ्तारी के बाद ही खुलासा हो सकेगा

थाना प्रभारी तलैया डीपी सिंह ने बताया कि अब तक पूछताछ में परिजनों का कहना है कि शादी के पहले से ही वह किसी शिवम नाम के युवक के संपर्क में थी। वे उसे नहीं जानते हैं। उन्हें आशंका है कि शिवम के कहने पर ही उसने बेटी को तालाब में फेंक दिया होगा। हालांकि दोनों आरोपियों के पकड़े जाने के बाद ही इस मामले का खुलासा हो सकेगा।

मां द्वारा बेटी को मारने की लगातार दूसरी घटना

भोपाल में मां द्वारा बेटी को मारने की यह लगातार दूसरी घटना है। इससे पहले बेटे की चाहत में खजूरी थाना क्षेत्र में 21 साल की सरिता ने अपनी बेटी की पानी में डुबोकर हत्या कर दी थी। सरिता ने पानी की टंकी में बेटी को डालने के बाद ऊपर से ढक्कन भी लगा दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort