महंगाई की मार / 20 का टमाटर 80 में, बिचौलियों की मुनाफाखोरी ने चार गुना किए दाम

भोपाल. राजधानी में थोक मंडियों में 20 रुपए किलो नीलाम हुआ टमाटर 80 रुपए किलो तक बिक रहा है। एक किलाे पर सीधे 60 रुपए बिचौलियों की जेब में जा रहे हैं। देशी टमाटर तो 100 रुपए किलो भी नहीं मिल रहा। हर साल बारिश शुरू होने के बाद टमाटर के दामों में तेजी से इजाफा होता है। लेकिन इस बार इन बिचौलियाें काे डीजल के दाम में हुई बढ़ोतरी का बहाना मिल गया। यह स्थिति तब निर्मित हो रही है, जब टमाटर को जरूरी खाद्यान्नों के साथ मॉनिटरिंग में रखा गया है। भोपाल का जिला प्रशासन बाजार के भाव लेकर उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय की साइट में रोजाना अपडेट करती है। जिला प्रशासन ने शुक्रवार को टमाटर का भाव 50 रुपए किलो बताया है, लेकिन राजधानी में बिट्टन मार्केट, एमपी नगर, अवधपुरी और न्यू मार्केट में कहीं भी टमाटर 80 रुपए से कम नहीं था। टमाटर के थोक व्यापारी राजेंद्र सैनी ने कहा कि कोलार (कर्नाटक) से आने वाला देशी टमाटर सबसे अधिक महंगा है। इसका थोक का ही दाम 60 रुपए किलो तक चल रहा है। हालांकि नांदगांव (महाराष्ट्र) से आने वाले टमाटर के थोक दाम 40 रुपए और कोटा (राजस्थान) से आने वाले टमाटर के थोक दाम महज 20 रुपए किलो ही हैं। इस आधार पर नांदगांव का टमाटर 60 रुपए राजस्थान का टमाटर किसी भी स्थिति में 30 से 40 रुपए किलो से ज्यादा नहीं होना चाहिए।

बिचौलियों पर लगाम नहीं लगी तो दाम होंगे 100 के पार जानकारों का कहना है कि अगर प्रशासन बिचौलियों पर कार्रवाई नहीं करता तो दाम अगले एक हफ्ते में 100 से 120 रुपए के आसपास पहुंच सकते हैं। ये बिचौलिए हर साल बारिश शुरू होने के बाद टमाटर जैसी कच्ची सब्जियों के व्यापार में सक्रिय हो जाते हैं।

सब्जी विक्रेता बोले…हमें ही 65-70 रुपए किलो मिल रहा है
भास्कर की पड़ताल में यह बात सामने आई कि तीनों जगह से आ रहे टमाटर एक ही भाव बिक रहे हैं। बिट्टन मार्केट में सब्जी खरीदने आए राजेंद्र जैन ने बताया कि दुकानों में सस्ता टमाटर है ही नहीं। सारे टमाटर 80 से 100 रुपए किलो ही बिक रहे हैं। दुकानदार से महंगा होने की वजह पूछो तो वे कहते हैं कि डीजल महंगा हो गया है, इसलिए भाड़ा दाेगुना हाे गया है। बाहर से ही टमाटर महंगा आ रहा है। साकेत नगर के सब्जी विक्रेता राजेंद्र पटेल कहते हैं कि हमें ही टमाटर 65-70 रुपए किलो मिल रहा है। अगर हम 80 रुपए से कम बेचेंगे तो नुकसान होगा।

जरूरत से ज्यादा दाम लेने वालों पर कार्रवाई करेंगे
टमाटर 80 रुपए किलो बिक रहा, जबकि आपके विभाग ने 50 रुपए किलो ही बताया है?
हमने करोंद, पिपलानी और बिट्टन मार्केट में कई जगह रेट पता किए हैं। औसत रेट 50 रुपए ही है। फिर भी हम एक बार चैक करवा लेंगे।
क्या टमाटर के दाम बढ़ा रहे बिचौलियों पर कार्रवाई होगी?
अगर कोई टमाटर के जरूरत से ज्यादा दाम ले रहा है तो उन पर सख्त कार्रवाई होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort