मध्यप्रदेश में शब्दों की सियासत:गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा- मैंने मंत्री बिसाहूलाल का बयान नहीं सुना, अगर उन्होंने कुछ आपत्तिजनक कहा है तो मैं संसदीय कार्य मंत्री माफी मांगता हूं

मध्य प्रदेश में नेता शब्दों की मर्यादा भूलकर निजी हमले करने में लगे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर हमलावर होने वाले भाजपा नेता अब मंत्री बिसाहूलाल सिंह के आपत्तिजनक बयान से बैकफुट पर नजर आ रहे हैं। मंगलवार को गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि मुझे उनके बयान की जानकारी नहीं है। लेकिन संसदीय कार्य मंत्री होने के नाते मैं माफी मांगता हूं।

मिश्रा ने यह भी कहा कि क्या कमलनाथ अपने बयान के लिए माफी मांगेंगे या दिग्विजय सिंह कमलनाथ के बयान के लिए माफी मांगेंगे? चुनाव में कांग्रेस के पास कोई मुद्दा नहीं है, इसलिए ऐसी बयानबाजी कर रहे हैं, ताकि कोई 15 महीनों के हिसाब ना मांग लें।

यह कह गए थे बिसाहूलाल

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने रविवार को शिवराज कैबिनेट की मंत्री इमरती देवी को ‘आइटम’ कहा था। सीएम शिवराज और ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इस बयान के विरोध में सोमवार को मौन धरना दिया। हंगामा जारी था। इसी बीच, मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने कांग्रेस प्रत्याशी की पत्नी के लिए बेहद अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया।

साहू ने अनूपपुर से कांग्रेस प्रत्याशी विश्वनाथ सिंह कुंजाम की पत्नी को लेकर टिप्पणी की थी। इसके बाद उनका वीडियो भी वायरल हो गया। विश्वनाथ सिंह ने चुनाव आयोग में दिए हलफनामे में पहली पत्नी का नहीं, अपनी दूसरी पत्नी राजवती का जिक्र किया है। पहली पत्नी की मौत के बाद विश्वनाथ सिंह ने राजवती से शादी की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.