भोपाल में हादसा:दो सगी बहनों की खदान में डूबने से मौत, देर रात 4 घंटे रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद शव बरामद

राजधानी के कोलार इलाके में 9 और 12 साल की दो सगी बहनें खदान के पानी में डूब गईं। सूचना मिलने पर 11वीं वाहिनी एनडीआरएफ की दो टीमें पहुंचीं। मंगलवार देर रात करीब 4 घंटे तक मासूमों के लिए तलाश में ऑपरेशन चलाया। मशक्कत से दोनों बच्चियों के शव पानी के नीचे एक ही जगह पाए गए। इससे पहले किनारे पर कपड़े मिलने थे।

कोलार के सोहागपुर गांव के पास एक खदान में दो सगी बहनें 12 साल की मंशु मीना और 9 साल की सुमन के डूबने की सूचना मिली। ग्रामीणों ने इसकी सूचना देर रात पुलिस को दी थी। इसके बाद भोपाल की राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के उप महानिरीक्षक आलोक कुमार सिंह के नेतृत्व में 11वीं वाहिनी की दो टीमें लगाई गईं। रात 10 बजे टीम ने तलाशी अभियान शुरू किया। कोई निश्चित जगह नहीं होने के कारण पूरी खदान में दो तरफ से टीमों ने तलाश की। करीब चार घंटे की मशक्कत के बाद रात 2 बजे के बाद दोनों मासूमों के शव पानी के नीचे एक ही जगह मिल गए। पुलिस ने दोनों शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए।

देर शाम तक घर नहीं पहुंचने पर तलाश शुरू हुई थी
टीआई कोलार सुधीर अरजरिया ने बताया कि दो बच्चियों के पिता खेती करते हैं। देर शाम तक दोनों घर नहीं लौटी तो परिजनों ने उनकी तलाश शुरू की थी। घटना की सूचना मिलते ही उनका पता लगाने के लिए टीमें लगाई गईं। एक ग्रामीण से बच्चियों के कपड़े खदान में पानी के किनारे पड़े होने की सूचना दी। दोनों के शव पानी के नीचे एक ही जगह पर मिले हैं। हादसा होते किसी ने देखा नहीं है। पोस्टमार्टम के बाद ही स्थिति का खुलासा हो पाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort