भोपाल में बड़ा बदलाव / गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के दामाद अविनाश लवानिया बने भोपाल कलेक्टर, तरुण पिथोड़े का तबादला

भोपाल. प्रदेश के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा के दामाद अविनाश लवानिया को राजधानी भोपाल का नया कलेक्टर बनाया गया है। निवर्तमान कलेक्टर तरुण पिथोड़े को खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता संरक्षण का संचालक बनाया गया है।

इससे पहले लवानिया भोपाल नगर निगम के कमिश्नर रह चुके हैं। मई 2018 में तत्कालीन शिवराज सरकार ने लवानिया को होशंगाबाद कलेक्टर से हटाकर भोपाल का नगर निगम कमिश्नर बनाया था। लेकिन, दिसंबर में सरकार बदली और लवानिया को हटा दिया गया। उनकी जगह बी. विजय दत्ता को कमिश्नर बनाया गया। लवानिया केवल छह महीने ही नगर निगम में पदस्थ रहे थे।

पिथोड़े को हटाने की चर्चा पहले भी थी

मध्य प्रदेश में मार्च में सरकार बदली और कोरोना संक्रमण के दौर में सबसे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर कलेक्टर लोकेश जाटव को हटाकर अपने चहेते मनीष सिंह को कमान सौंपी थी। तब चर्चा इस बात की थी कि भोपाल कलेक्टर तरुण पिथोड़े को भी हटा दिया जाएगा। लेकिन, सरकार ने उन पर भरोसा बनाए रखा। कोरोना के बाद लॉकडाउन हटा और बाजार खुल गए। इसके बाद अविनाश लवानिया को बागडोर सौंप दी गई है।

कल बदले थे 6 आईपीएस, रुचिवर्धन को पीएचक्यू बुलाया
बुधवार को 6 आईपीएस अफसरों के तबादला आदेश जारी कर उनके कामकाज में फेरबदल किया गया था। रतलाम डीआईजी रुचिवर्धन मिश्र को हटाकर डीआईजी प्रशासन, पुलिस मुख्यालय पदस्थ किया है। पहले इंदौर से हटाकर सरकार ने मिश्र को रतलाम भेजा था। हनी ट्रैप मामले का खुलासा करना भी उनके तबादले की वजह मानी गई थी।

छह आईपीएस अफसरों के तबादले

अरविंद कुमार को एडीजी पुलिस मुख्यालय से एडीजी एसएएफ भेजा।
डीपी गुप्ता को एडीजी पुलिस मुख्यालय से एडीजी होमगार्ड जबलपुर।
दीपिका सूरी को आईजी पुलिस मुख्यालय आईजी महिला अपराध।
रुचिवर्धन मिश्र को डीआईजी रतलाम रेंज से डीआईजी प्रशासन पुलिस मुख्यालय।
विनीत खन्ना डीआईजी पुलिस मुख्यालय से डीआईजी एसएएफ ग्वालियर।
हिमानी खन्ना डीआईजी पुलिस से डीआईजी महिला अपराध ग्वालियर।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort