भोपाल में पहली बार सबसे डरावना आंकड़ा:2904 एक्टिव कोरोना केस; 1620 का घरों में,1284 का अस्पताल में चल रहा इलाज

भोपाल.कोरोना काल में पहली बार राजधानी में एक्टिव केस 2904 हुए हैं। संक्रमण की पहली लहर में सबसे ज्यादा 27 सितंबर को एक्टिव केस 2164 थे, जो 4 नवंबर को 1475 हुए थे। दूसरी लहर में हालात ज्यादा खराब हैं। इन 2904 में से 1620 का घरों में, 1284 का अस्पताल में इलाज चल रहा है। अभी इंदौर में सबसे ज्यादा 4594 एक्टिव केस हैं।

7 दिन में 409 एक्टिव केस बढ़े
23 मार्च को पहला मरीज मिलने के बाद शहर में 1000 एक्टिव केस 117 दिन में हुए थे। इस बार 1000 एक्टिव मरीज बढ़ने में महज 6 दिन लगे। 25 नवंबर को ये 2495 थे, जो एक नवंबर को 2904 हो गए हैं।
पहले 10 दिन में, अब 12 दिन में ठीक हो रहे मरीज
एक्टिव केस बढ़ने की दो वजह हैं। पहली- संक्रमण के डर से ज्यादा लोग जांच करा रहे हैं। दूसरी- पॉजिटिव मरीजों में से 70% में लक्षण दिखे हैं। मतलब वायरस लोड ज्यादा है।
– डॉ. निशांत श्रीवास्तव, प्रोफेसर, टीबी एंड चेस्ट विभाग, जीएमसी

एम्स, हमीदिया, जेपी, चिरायु और जेके अस्पताल में कोरोना के लिए रिजर्व 1721 बेड में से 1005 (58.39%) बेड भरे हुए हैं।

फिर मिले 300 से ज्यादा पॉजिटिव मरीज
शहर में एक बार फिर 300 से अधिक पॉजिटिव केस मिले। मंगलवार को 302 मामले सामने आए। दो मौतें भी हुईं। प्रदेश में कोरोना के 1357 नए मामले बढ़े। इस समय प्रदेश में कुल एक्टिव केस 14,435 है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort