भोपाल में दूसरी लहर; रिकॉर्ड 425 मरीज मिले, 24 घंटे में मरीजों की संख्या दोगुनी हो गई

भोपाल में अब बाजार से लेकर किसी भी सरकारी और निजी संस्था में लोग बिना मास्क के नजर आने लगे हैं। यह स्थिति इसलिए ज्यादा चिंता में डालने वाली है, क्योंकि मौसम में ठंडक बढ़ने के साथ राजधानी में कोरोना संक्रमण बढ़ने लगा है। आशंका जताई जा रही है कि ये संक्रमण की दूसरी लहर हो सकती है। असल में, मार्च में शुरू हुआ कोरोना का दौर छह महीने यानि छह महीने तक कभी कम, कभी ज्यादा होता रहा। इसके बाद त्योहारी सीजन शुरू हुआ। इसके बाद केस बढ़ने शुरू हो गए हैं।

गुरुवार को शहर में कोरोना संक्रमण के 425 मामले सामने आए। ये बुधवार के 229 के मुकाबले करीब दोगुने मामले हैं। पूरे कोरोना काल में ये अब तक की सबसे बड़ी संख्या है। इसे देखते हुए जिला प्रशासन ने सख्ती शुरू की है। गुरुवार को मास्क न लगाने वालों के खिलाफ भोपाल में अभियान शुरु किया गया। कलेक्टर अविनाश लवानिया ने सभी एसडीएम को अपने क्षेत्र में कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी ने कहा कि इसे तीसरी तो नहीं कह सकते, लेकिन दूसरी लहर मान सकते हैं। वजह है कि लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं और न ही चेहरे पर मास्क लगा रहे हैं। लोगों को इसके लिए जागरूक और सतर्क रहना होगा। फिलहाल मास्क ही वैक्सीन है और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूरी है, तभी संक्रमण पर रोक लगाई जा सकती है।

फिर से रात 8 बजे से बाजार बंद करने पर विचार
राजधानी में कोरोना संक्रमण एक बार फि‍र तेजी से पैर पसारने लगा है। बीते कुछ दिनों से रोज ही 200 से ज्‍यादा नए कोरोना मरीज मिल रहे हैं। संक्रमण की इस रफ्तार को थामने के लिए प्रशासन एक बार फिर रात आठ बजे तक बाजारों को बंद करने पर विचार कर रहा है। इस बारे में बाजार के व्यापारियों से भी सहमति ली जाएगी। त्योहारी सीजन में बाजारों में बढ़ी भीड़ और और सुरक्षित शारीरिक दूरी का पालन न किए जाने के चलते शहर में तेजी से कोरोना मरीजों की संख्‍या बढ़ रही है। इसके चलते प्रशासन ने एक बार फिर तैयारियां शुरू कर दी हैं।

कंटेनमेंट जोन बनाने की भी तैयारी

इधर, शहर में अब दोबारा कंटेनमेंट क्षेत्र बनाए जाने का भी निर्णय लिया गया है। हालांकि यह कंटेनमेंट क्षेत्र उन मरीजों के घर के आसपास ही बनाया जाएगा जो कि होम आइसोलेशन में हैं। वहीं, घर-घर जाकर थर्मल स्क्रीनिंग और सैंपलिंग भी की जाएगी। कोरोना पॉजिटिव मरीज के घर के आसपास के 10 मकानों की हर दिन स्क्रीनिंग की जाएगी। लक्षण पाए जाने पर सैंपलिंग भी की जाएगी। इधर, नगर निगम के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वे पॉजिटिव मरीजों के घरों को कंटेनमेंट कर सैनिटाइजेशन शुरू करें।

चौक बाजार में हुई चालानी कार्रवाई

भोपाल के चौक बाज़ार में एसडीएम जमील खान के नेतृत्व में कार्रवाई चल रही है। ऐसे में जिला प्रशासन की टीम बाजार में जिन लोगों का चालान बना रही है, वह एक तो मास्क नहीं लगाए हुए हैं, उल्टा बहस और कई तर्क कार्रवाई करने वाली टीम को दे रहे हैं। भोपाल के सभी क्षेत्रों में एक साथ यह अभियान शुरू हुआ है।

चालान के साथ समझाइश भी

एसडीएम जमील खान ने बताया कि हमीदिया रोड, घोड़ा नक्कास, चौक बाजार और लखेरापुरा बाजार में मास्क न पहनने वाले लोगों और दुकानदारों पर चालानी कार्रवाई की जा रही है। दुकानों पर चालान के साथ समझाइश दे रहे हैं। दोबारा अगर उनके यहां मास्क के बगैर दुकानदार दिखे, तो उसे सील करने की कार्रवाई भी की जाएगी।

और बढ़ने लगे एक्टिव केस

कोरोना मरीजों की संख्या में लगातार हो रहे इजाफे का असर यह है कि अब शहर में एक्टिव मरीजों की संख्या में फिर से इजाफा होने लगा है। नवंबर की शुरुआत में एक्टिव मरीजों की संख्या घटकर 1500 पर आ गई थी। वहीं, अब एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 1800 के पार पहुंच गई है। भोपाल में कुछ दिनों से हर रोज 200 से ज्यादा नए मामले मिल रहे थे, लेकिन गुरुवार को रिकॉर्ड टूट गया, जब 425 नए मामले सामने आए हैं। राजधानी में अब तक 29760 केस मिल चुके हैं। वहीं, मरने वालों की तादाद 528 हो गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort