भोपाल के 2 लाख व्यापारियों की मांग-लाइसेंस शुल्क खत्म हो

BCCI समेत 50 व्यापारिक संगठन प्रभारी मंत्री से मिले; बोले- प्रॉपर्टी टैक्स दे रहे तो यह क्यों?

राजधानी भोपाल के करीब दो लाख व्यापारियों ने लाइसेंस शुल्क समाप्त करने की मांग उठाई है। BCCI (भोपाल चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज) समेत करीब 50 व्यापारिक संगठनों ने यह मांग की है। इसे लेकर शुक्रवार को वे प्रभारी मंत्री भूपेंद्र सिंह से भी मिले। उन्होंने कहा कि जब नगर निगम को प्रॉपर्टी टैक्स दे रहे तो फिर यह लाइसेंस शुल्क क्यों दें?

प्रभारी मंत्री को सौंपे आवेदन में व्यापारियों ने बताया कि नगर निगम ने वर्ष 2021 में एक नए कर शुल्क के रूप में व्यापारियों पर लगाया। इस शुल्क की गणना उसके कारोबार से न होकर प्रति वर्ग फीट की दर से की गई है। इस तरह से शुल्क लगाना आपत्तिजनक और अव्यवहारिक है, क्योंकि निगम को भवन स्वामी पहले से प्रॉपर्टी टैक्स एवं ठोस अपशिष्ठ पदार्थ कर दे रहा है। कमिश्नर के आदेश के अनुसार, लाइसेंस शुल्क प्रॉपर्टी टैक्स के साथ लिया जाना जरूरी है, जो कि गलत है। बीसीसीआई के अध्यक्ष तेज कुलपाल सिंह ने प्रभारी मंत्री से लाइसेंस शुल्क को तुरंत हटाए जाने की मांग की।

इन संगठनों के पदाधिकारी मंत्री से मिले
आनंद नगर व्यापारी संघ, मनीषा मार्केट व्यापारी संघ, सेनेटरी मर्चेंट एसोसिएशन, मानसरोवर व्यापारी एसोसिएशन, लोहा व्यापारी संघ, प्राइवेट कोचिंग वेलफेयर सोसाइटी, रेस्टोरेंट एसोसिएशन, एमपी नगर व्यापारी संघ, प्लाई बोर्ड एसोसिएशन, भोपाल होटल एसोसिएशन, किराना व्यापारी संघ, बैरागढ़ कपड़ा व्यापारी संगठन, बर्तन व्यापारी संघ, राजधानी कपड़ा व्यापारी संघ लखेरापुरा, राजधानी कपड़ा व्यापारी संघ पीरगेट, ऑटोमोबाइल एसोसिएशन, हनुमानगंज किराना व्यापारी संघ, भोपाल ग्रेन एंड सीड्स मर्चेंट्स एसोसिएशन करोद मंडी आदि संगठनों के पदाधिकारी प्रभारी मंत्री से मिले।

दो लाख से ज्यादा व्यापारी
बीसीसीआई के संजीव कुमार जैन ने बताया, करीब दो लाख व्यापारी लाइसेंस शुल्क देते हैं। निगम यह शुल्क तत्काल खत्म करें। बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष विकास विरानी, बीसीसीआई अध्यक्ष पाली, उपाध्यक्ष सुनील जैन, अरविंद जैन, आदित्य मनिया, सुनील सिंघाई, प्रदीप सेवानी, हेमंत अग्रवाल, संजीव जैन, अमित तलैया, कृष्णगोपाल गट्टानी, संदीप गोदा, रोहित जैन आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *