भीड़ न हो इसलिए रोशनी नहीं की; बिट्‌टन मार्केट में सीमित लोगों की मौजूदगी में दहन

बिट्टन मार्केट में सोमवार को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए सांकेतिक रूप से केवल 11 फीट के रावण के पुतले का दहन किया गया। राजधानी (अरेरा) उत्सव समिति ने सीमित संख्या में सिर्फ सदस्यों की उपस्थिति में रावण दहन किया।

मिति के महासचिव संजय सोमानी ने बताया कि मैदान पर राेशनी नहीं की गई। बैठक व्यवस्था भी नहीं की थी, ताकि संक्रमण के इस दौर में भीड़ न जुटे। इस दौरान मुख्य रोड पर पुलिस तैनात रही, जिससे जाम भी नहीं लगा। यहां 60-70 लोग ही उपस्थित थे। इसके बाद मंच पर कोरोना से मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि भी दी गई।

एमवीएम ग्राउंड डिस्टेंसिंग का पालन नहीं- यहां सब भूल गए कोरोना का डर
एमवीएम ग्राउंड पर भी रावण, कुंभकर्ण और मेघनाद के पुतले का दहन का किया गया। हालात ऐसे हो गए कि कोरोना संक्रमण के बीच लोग सोशल डिस्टेंसिंग भी भूलने लगे। भीड़ इतनी जुट गई कि लोग सड़क तक आ गए। हालांकि इस दौरान रविवार को गठित स्पेशल ट्रैफिक स्कॉट (एसटीएस) ने जाम नहीं लगने दिया। भीड़ के कारण रात 8 बजे होने वाला कार्यक्रम रात 10 बजे हो सका। रावण दहन होते ही लोगों ने अपने-अपने मोबाइल फोन पर वीडियो बनाने शुरू कर दिए।

छोला… श्रीराम व हनुमान ने किया रावण वध
छोला दशहरा मैदान पर दशानन, मेघनाद और कुंभकर्ण के पुतलों का दहन हुआ। वध कर हिंदू उत्सव समिति के मंच पर वापस लौटे श्रीराम और हनुमान का चिकित्सा व शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, महंत जगदीशदास व समिति के अध्यक्ष कैलाश बेगवानी ने तिलक कर आरती उतारी। सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर भी मौजूद रहीं।

कलियासोत मैदान पर जनश्री लोक कल्याण समिति द्वारा रावण दहन किया गया। समिति अध्यक्ष रामदयाल प्रजापति ने बताया कि यहां डिस्टेंसिंग बनाकर 1000 कुर्सियां रखी गई थीं। मास्क भी बांटे गए।
संत हिरदाराम नगर की नवयुवक सभा ने लघु रूप में दशहरा मनाया। समिति के महेश दयारामानी ने बताया कोरोना के चलते इस बार सिर्फ 20 फीट ऊंचे रावण का दहन कर परंपरा का निर्वाहन किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.