भारतीय शख्स को चीनी बताकर जमकर पीटा, गंभीर रूप से हुआ घायल

येरुशलम। इजरायल में भारतीय मूल के एक यहूदी को दो लोगों ने “चीनी” नागरिक करार देते हुए उसे बुरी तरह से पीटा। इजरायली शख्स ने पहले ‘कोरोना, कोरोना चिल्लाया’ और फिर तिबेरियास सिटी में वायरस के प्रकोप से जुड़े एक स्पष्ट नस्लवादी हमले में उसकी जमकर पिटाई की। मणिपुर और मिजोरम के बेनी मेंशे समुदाय से संबंध रखने वाले 28 वर्षीय एम-शालेम सिंगसन को सीने में गंभीर चोट आई हैं और उसे पोरिया अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
प्रमुख इजराइली टीवी चैनल ने बताया कि पुलिस घटना की जानकारी के आधार पर दो संदिग्धों की तलाश कर रही है। सिंगसन ने पुलिस को बताया कि उसने हमलावरों को यह समझाने की बहुत कोशिश की कि वह न तो वह चीनी नागरिक था और न ही कोरोना वायरस से संक्रमित था। मगर, पिटाई करने वाले हमलावरों ने उसकी एक भी नहीं सुनी।
सिंगसन पर शनिवार को हमला किया गया था। रिपोर्ट में कहा गया है कि वह तीन साल पहले अपने परिवार के साथ भारत से इजराइल गए थे। इस घटना का कोई गवाह नहीं था और पुलिस की खोज मुख्य रूप से क्षेत्र में लगे सीसीटीवी फुटेज के आधार पर चल रही है।
शैवी इजरायल (Shavei Israel) के अध्यक्ष और संस्थापक माइकल फ्रेयंड ने कहा कि हम शातिर और नस्लवादी हमले की खबर पाकर हैरान थे। यह संगठन इजराइल में बेनी मेनाशे समुदायर के लोगों के आव्रजन पर काम कर रहा है। फ्रेयंड ने कहा कि मैं मांग करता हूं कि इजरायली पुलिस घटना की तुरंत जांच करे और उन लोगों के खिलाफ मुकदमा चलाए, जिन्होंने इस जघन्य कृत्य को अंजाम दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *