बाजारों में रौनक / आज से भोपाल में मॉल खुले, कोई खरीदी करने तो कुछ घूमने पहुंचे, मोबाइल में आरोग्य सेतु एप जरूरी

भोपाल. लॉकडाउन के बाद सोमवार से भोपाल में होटल, रेस्टोरेंट और मॉल खुलने से बाजारों में रौकन लौटने लगी। शहर के सबसे प्रमुख डीबी मॉल में अधिकांश लोग जरूरत का सामान लेने पहुंचे, जबकि कुछ लोग घूमने के लिए भी आए।

बागसेवनिया से आए रवि ने बताया कि वह मोबाइल फोन खरीदने की सोच रहे थे। ऐसे में लॉकडाउन के कारण वे मोबाइल फोन नहीं खरीद पाए थे। अब मॉल खुलने की बात सुनते ही यहां मोबाइल फोन खरीदने आए हैं। सिर्फ मोबाइल फोन खरीदकर वापस चला जाऊंगा। लोगों को भी सिर्फ जरूरत पर ही घर से निकलना चाहिए। इससे सभी का फायदा है। मॉल में प्रवेश के लिए मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु एप होना जरूरी है।
तीन बार होता तापमान चेक

डीबी मॉल में कोरोना के संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए तीन चक्रों की सुरक्षा रखी गई है। दो जगह सुरक्षा गार्ड शरीर का तापमान चेक करने के बाद हाथों काे सैनिटाइज करवाते हैं। इसके बाद अंदर घुसते ही ऑटोमैटिक थर्मल स्क्रीन लगाई गई है। यहां एक कर्मचारी खड़े होकर मॉल में प्रवेश करने वाले प्रत्येक सदस्य को कैमरे के सामने खड़े होने को कहता है। इसके बाद पास ही लगी स्क्रीन पर ग्राहक का वीडियो और तापमान दिखने लगता है। इसके बाद ग्राहक को आगे जाने दिया जाता है।
सभी के लिए पहले ही जारी की जा चुकी है गाइड लाइन

भोपाल कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने एक दिन पहले ही सिंगल, मल्टी ब्रांड मॉल, होटल और रेस्त्रां केंद्र सरकार की गाइडलाइन के अनुसार खोलने के आदेश जारी कर दिए हैं। प्रशासन ने इसके लिए टाइम भी निर्धारित की है। सुबह 11 बजे से मॉल में ग्राहकों को प्रवेश मिलेंगे। वहीं, रात्रि 8.30 बजे तक सभी बंद हो जाएंगे। जिला प्रशासन की टीम लगातार सभी जगहों की मॉनिटरिंग करेगी। जिन जगहों पर सरकार द्वारा तय किए गए प्रोटोकॉल का पालन नहीं होगा, उन पर कार्रवाई की जाएगी।
मॉल खोलने के नियम
प्रशासन द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार मॉल मैनजमेंट को सैनिटाइजर और थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था करनी होगी। मास्क पहने और कोरोना के लक्षण नहीं दिखने वाले लोगों की ही मॉल में इंट्री होगी। हर दुकान को सोशल डिस्टेंसिंग के लिए गोले बनाने होंगे। होम डिलीवरी स्टाफ को हेल्थ चेकअप के बाद ही अनुमति मिलेगी। बार-बार छूने वाली जगहों को सैनिटाइज करवाना होगा। एसी का तापमान 24 से 30 डिग्री रखना होगा। मॉल में मौजूद हर कर्मचारी के लिए मास्क और ग्लव्स अनिवार्य है। अगर मॉल में कोई संक्रमित मिलता है तो इसकी सूचना कंट्रोल रूम को दें।

रूमाल के मास्क वालों काे प्रवेश नहीं
मॉल में लोगों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए सिर्फ सादे रूमाल या गमछे आदि से चेहरा ढकने वालों को प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। ऐसे लोगों को मॉल के सबसे पहले गेट पर ही सुरक्षाकर्मियों द्वारा रोक दिया जाता है। उन्हें गाइडलाइन के अनुसार तय मास्क ही लगाकर आने की सलाह दी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.