बच्ची से रेप में महिला ने दिया ड्राइवर का साथ

भोपाल में गृहमंत्री बोले- स्कूल प्रबंधन ने लीपा-पोती की; मासूम बोली- अंकल ने बैड टच किया

भोपाल के बिलाबॉन्ग हाई इंटरनेशनल स्कूल की नर्सरी की बच्ची से स्कूल बस में रेप का मामला सामने आया है। ड्राइवर हनुमत जाटव ने साढ़े तीन साल की मासूम के साथ वारदात की। बस की केयर टेकर उर्मिला साहू को ड्राइवर की करतूतों की जानकारी थी। वह ड्राइवर का साथ देती थी। बच्ची के साथ गलत होता देखकर भी उसने ड्राइवर का कभी विरोध नहीं किया। पुलिस ने ड्राइवर के साथ उसे भी सहआरोपी बनाकर गिरफ्तार कर लिया है।

इस मामले में गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, स्कूल प्रबंधन ने मामले में लीपा-पोती करने की कोशिश की है। स्कूल प्रबंधन की भी जांच की जाएगी। दोषी होने पर कार्रवाई भी की जाएगी। मामले में बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने भी संज्ञान लिया है।

बाल आयोग के सदस्य ब्रजेश चौहान का कहना है कि लगातार हम स्कूलों को निर्देश देते हैं कि परिवहन व्यवस्था में सीसीटीवी हो, ड्राइवर-कंडक्टर का पुलिस वेरिफिकेशन हो। मामला बहुत गंभीर है। स्कूल प्रबंधन से नोटिस देकर जवाब-तलब करेंगे। सीसीटीवी क्यों चालू नहीं था..? ड्राइवर-कंडक्टर का वेरिफिकेशन कब कराया था? या नहीं था। हर बिंदु पर जांच करेंगे, किसी भी दोषी को नहीं छोड़ा जाएगा।

महिला थाना प्रभारी अंजना धुर्वे ने बताया कि बच्ची के साथ ड्राइवर कई बार हरकत कर चुका है। बच्ची ने मां को पहले भी बताया था, लेकिन परिजन ने ध्यान नहीं दिया। 8 सितंबर को जब बच्ची के कपड़े बदले मिले, तब मां को उसने बैड टच करने के बारे बताया। पुलिस मंगलवार को स्कूल बस के ड्राइवर हनुमत जाटव और केयर टेकर उर्मिला साहू को कोर्ट में पेश करेगी। महिला थाना प्रभारी ने बताया कि बस को पुलिस ने जब्त कर लिया है। CCTV फुटेज नहीं मिले हैं। पुलिस रिकवर कराने का प्रयास करेगी।

डेढ़ माह पहले जॉइन किया स्कूल
37 वर्षीय आरोपी हनुमत शादीशुदा है। उसके दो बच्चे हैं। करीब डेढ़ महीने पहले ही उसने स्कूल जॉइन किया था। पुलिस अब स्कूल बस में आने-जाने वाली अन्य बच्चियों की भी काउंसिलिंग करेगी, जिससे यह पता चल सके की, कहीं आरोपी ने अन्य बच्चियों के साथ भी ऐसी हरकत तो नहीं कर रहा था। पीड़ित बच्ची की भी पुलिस काउंसिलिंग कर रही है।

स्कूल प्रबंधन की सफाई
छोटे बच्चों के बैग में घर की एक ड्रेस भी रखकर भेजी जाती है। स्कूल प्रबंधन ने अपनी जांच में पेरेंट्स को बताया कि बच्ची जिस स्कूल बस से घर जाती है, उसमें एक दीदी भी रहती है। 8 सितंबर को बस में बच्ची ने पानी पीया तो उसके कपड़े गीले हो गए थे। बस की दीदी ने बच्ची के कपड़े बदले थे। ड्राइवर की कोई गलती सामने नहीं आई है। बच्ची विराशा हाइट्स स्टॉप पर उतरती है, इसके बाद बस में दो बच्चे और थे।

बिलाबॉन्ग इंटरनेशनल स्कूल के प्रिंसिपल आशीष अग्रवाल का कहना है कि पुलिस वेरिफिकेशन के बाद ही हम स्कूल में ड्राइवर को रखते हैं। बस में पानी पीने के दौरान कपड़े गीले होने पर आया दीदी ने बच्ची के कपड़े बदले थे, ड्राइवर ने नहीं। पुलिस की जांच में हम पूरा सहयोग कर रहे हैं। पुलिस जो जानकारी मांग रही है वह उपलब्ध जा रही है। आगे भी सहयोग करेंगे।

कांग्रेस सदन में उठाएगी मामला
कांग्रेस विधायक हिना कावरे ने कहा- यह मामला सदन में उठाएंगे। प्रदेश सरकार दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करे। प्रदेश में लगातार महिलाएं और बच्चों के साथ दुष्कर्म के मामले बढ़ रहे हैं। ऐसे मामले को लेकर विपक्ष सदन में प्रश्न उठाएगा।

कमलनाथ ने किया ट्वीट

पटवारी ने कहा- क्या स्कूल गिराएंगे शिवराज जी
पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने कहा- मुख्यमंत्री ने बलात्कारियों को फांसी पर चढ़ाने का कानून बनाया, लेकिन अब तक एक भी बलात्कारी को फांसी नहीं दी गई। अभिभावक अपने बच्चों को बस के ड्राइवर और कंडक्टर के भरोसे भेजते हैं, शिवराज जी के कानून का असर नहीं बचा। क्या स्कूल गिराएंगे शिवराज जी जरा विचार करो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.