प्रदेश के 51 जिलों में कोरोना के एक्टिव मरीज, रिकवरी रेट घटकर 67% हुआ भोपाल

प्रदेश में अब 51 जिलों में कोरोना के एक्टिव मरीज हो गए हैं। भोपाल, इंदौर, ग्वालियर व कई अन्य शहरों में संक्रमण तेजी से फैलने के बाद अब छोटे शहरों में भी लोग संक्रमित हो रहे हैं। रविवार को केवल डिंडोरी ही एक ऐसा जिला रहा जहां कोई कोरोना पॉजिटिव नहीं है। शनिवार को सभी जिले कोरोना से प्रभावित थे। लेकिन, अब संक्रमण की दर तेजी से बढ़ी है और ठीक होने वाले इसके लगभग आधे हो गए हैं। रविवार को प्रदेश में 837 नए संक्रमित मामले सामने आए। वहीं ठीक होने वाले केवल 447 ही थे। जिस तेजी से लोग संक्रमित हो रहे हैं उसके मुकाबले ठीक होने वालों की संख्या में लगातार कमी आ रही है।

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न होने से बिगड़ रहे हालात

प्रदेश में कोरोना की वजह से बिगड़ते हालात की बड़ी वजह अनलॉक होने के बाद भीड़ बढ़ना और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न होना है। यही नहीं, बड़ी संख्या में लोगों का एक जगह से दूसरी जगह पहुंचना भी इसकी एक बड़ी वजह रहा। अनलाॅक हाेने के बाद बाजारों व विभिन्न संस्थानों में भी पूरी क्षमता के साथ काम शुरू हुआ और उसी तेजी से संक्रमण भी बढ़ा।

3 प्रतिशत कम हुई रिकवरी

वर्तमान में प्रदेश का रिकवरी रेट 67.74 प्रतिशत है। खास बात यह है कि पिछले हफ्ते भर में करीब तीन प्रतिशत की कमी आई है। इसकी मुख्य वजह भोपाल और इंदौर में संक्रमण तेजी से बढ़ना है। इधर, प्रदेश में एक्टिव संक्रमितों की संख्या भी 6568 पहुंच गई है। अब प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या 22 हजार 600 के पहुंच चुकी है।

इन शहरों में स्थिति खराब

राज्य में हॉट स्पाट वाले जिलों में सबसे ऊपर भोपाल और इंदौर हैं। जून तक तो भोपाल में रोजाना संक्रमित होने वालों की संख्या 50-60 के लगभग चल रही थी। इसके बाद यह आंकड़ा दो गुना होने लगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.