पुलिस की सख्ती के बाद राजधानी की सड़को पर पसरा सन्नाटा, चैत्र नवरात्र के पहले दिन मंदिरों में नहीं पहुंचे श्रद्धालु

भोपाल बुधवार 25 मार्च 2020 । कर्फ्यू के दूसरे दिन पुलिस की सख्ती के बीच शहर की सड़के बुधवार सुबह से वीरान नजर आ रही है। चैत्र नवरात्र के पहले दिन मंदिरों में श्रद्धालु माता के दर्शन और पूजन के लिए नहीं पहुंचे हैं। शहर के अधिकांश देवी मंदिरों में सुबह जल्दी घट स्थापना के बाद पट बंद कर दिए गए है। वहीं दूध की सप्लाई में कोई बाधा नहीं आई है। शहर में बीते दो दिनों में कोरोना वायरस के पॉजिटिव का एक भी मामला सामने नहीं आया है। एक मरीज का एम्स के आइसोलेशन में इलाज चल रहा है।

बुधवार रात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के देश की जनता के नाम संबोधन के बाद बाजार में अचानक भीड़ उमड़ पड़ी थी। इसके बाद प्रदेश सरकार ने कहा जरूरत के सामान की कोई दिक्कत नहीं आएगी। लेकिन फिर भी दुकानों पर भीड़ लगी रही। लोग असावधानी पूर्वक बाजारों में निकले। सबसे ज्यादा भीड़ पुराने भोपाल के बाजारों में देखने मिली। जिला प्रशासन ने कहा है कि मेडिकल की दुकानों के साथ ही आज से किराना की दुकानें भी खुलेंगी। इसलिए किसी को परेशान होने की जरूरत नहीं है। जरूरत पड़ी तो किराने के सामान को होम डिलेवरी भी अगले दो-तीन दिन में शुरू हो सकती है।

पूजन सामग्री की दुकान नहीं खुलने लोगों को हुई परेशानी

बुधवार से चैत्र नवरात्र शुरू हो गए हैं। मंगलवार शाम पूरे शहर में तैयारियों के बीच पूजन सामग्री की दुकान नहीं खुलने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। कुथ व्यवसायियों ने अपने घर से ही पूजन सामग्री सप्लाई की। हांलाकि कुछ दुकानों पर दुकानदान आधा शटर खोलकर सामान बेचते रहे। बुधावार सुबह पूजना सामग्री दुकानें जरूर खुली हुई हैं।

शहर में लॉकडाउन व कर्फ्यू के दौरान रोजमर्रा की चीजों की आपूर्ति करने व कालाबाजारी रोकने हेतु डीआईजी शहर इरशाद वली एवं कलेक्टर तरुण पिथोड़े द्वारा पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की रात को ही बैठक हुई। बैठक में निर्देश दिए गए हैं कि शहर में किसी भी प्रकार की कालाबाजारी न हो, किसी प्रकार के विवाद की स्थिति न बने। आवश्यतानुसार फोन पर ऑर्डर लेकर होम डिलेवरी प्रारंभ करें। दुकान व संस्थान पर किसी प्रकार की भीड़ न लगाएं। शासन के सभी दिशा निर्देशों का अनिवार्य रूप से पालन करें।

पास बनवाने के लिए इन नंबर पर संपर्क करें- जिला प्रशासन ने जरूरी काम से बाहर जाने वाले लोगों के पास की व्यवस्था की है। जिन लोगों को पास की आवश्यकता है वे 7049106300, 9425860489,
8602744849, 7049105241 पर संपर्क कर सकते हैं।

पांच की रिपोर्ट आई निगेटिव

जेपी अस्पताल में भर्ती कोरोना के छह संदिग्धों में पांच की रिपोर्ट निगेटिव आई है। एक की रिपोर्ट आना बाकी है। अक्षय अस्पताल में भर्ती एक मरीज की रिपोर्ट भी निगेटिव है। शहर में रविवार को मिली पहली कोरोना पॉजिटिव युवती का एम्स में इलाज चल रहा है। उसे कोई तकलीफ नहीं है। उसके पिता व अन्य रिश्तेदारों के सैंपल भी मंगलवार को लिए गए हैं। अभी तक युवती व उसके पिता के संपर्क में आए 157 लोगों की पहचान कर उन्हें अलग रहने को कहा गया है। भोपाल में आज की स्थिति में 379 लोग घरों में आइसोलेशन में हैं।

अस्पतालों में सामान्य ओपीडी बंद
कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए अस्पतालों में भीड़ कम की जा रही है। इसके लिए मेडिकल कॉलेजों से संबद्ध अस्पतालों व जिला अस्पतालों में आगामी आदेश तक के लिए सामान्य ओपीडी मंगलवार से बंद कर दी गई है। यहां सिर्फ फ्लू ओपीडी में सर्दी-जुकाम के मरीजों व मेडिकल, सर्जिकल, ट्रामा, मातृ एवं शिशु रोग संबंधी इमरजेंसी में रोगियों को इलाज मिलेगा। इसका मकसद यह है कि अस्पताल में उपलब्ध सुविधाओं का ज्यादा उपयोग कोरोना संदिग्धों व मरीजों के लिए किया जा सके। स्वास्थ्य आयुक्त ने सोमवार को इस संबंध में आदेश जारी किए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort