पीएम मोदी बोले- कोरोना के संक्रमण से अर्थव्यवस्था को बचाएंगी रिजर्व बैंक की घोषणाएं

नई दिल्ली शुक्रवार 27 मार्च 2020 . शुक्रवार का दिन काफी हलचल भरा रहा। वित्तमंत्री के बाद अब आरबीआई की तरफ से भी कई राहतों की घोषणा की गई है। ऐसे में आरबीआई की तरफ से उठाए गए कदमों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अपनी पहली प्रतिक्रिया दे दी है। 21 दिनों के लॉकडाउन का मजबूती से सामना करने के लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने रेपो रेट में कटौती कर ईएमआई और घटने का रास्ता साफ कर दिया है। इसके अलावा भी आरबीआई की तरफ से कई बड़े एलान किए गए हैं। ऐसे में आरबीआई की तरफ से उठाए गए कदमों पर पीएम मोदी ने ट्वीट कर तारीफ की है और इसे मजबूत कदम बताया है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा है कि, “कोरोनावायरस से हमारी अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए आरबीआई की तरफ से एक बेहद ही मजबूत कदम उठाया गया है। इस घोषणा से लिक्विडिटी में सुधार होगा। इसके अलावा धन की लागत कम होगी। वहीं, यह फैसला मध्यम वर्ग और व्यवसायों की मदद करेगा।”

बता दें कि देशभर में जारी 21 दिन के लॉकडाउन से अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान पहुंच रहा है। ऐसे में आम जनता को लॉकडाउन के दौरान कोई परेशानी न हो और अर्थव्यवस्था को कोरो नावायरस के झटके से बचाया जा सके, इसके लिए भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कई महत्वपूर्ण एलान किए हैं। इनमें रेपो रेट को 5.15 फीसदी से घटकर 4.40 फीसदी करना शामिल है, जिससे सभी तरह के कर्ज सस्ते होंगे। इसके अलावा रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने रिवर्स रेपो रेट में भी 0.90 फीसदी की कटौती की है। अब यह 4.90 फीसदी से घटकर चार फीसदी हो गई है। आरबीआई की तरफ से सभी बैंकों को सलाह दी है कि वो तीन महीने के लिए ईएमआई को ग्राहकों से लेने के लिए टाल दें।

बैंक मजबूत, लोग घबराकर बैंकों से पैसा नहीं निकाले
रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने जमाकर्ताओं की चिंताओं को दूर करते हुए कहा कि देश की बैंक प्रणाली पूरी तरह सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि बैंक के शेयर भाव में कमी को जमा की सुरक्षा से जोड़ना गलत धारणा पर आधारित है। यस बैंक संकट और कोरोना वायरस महामारी के बाद बैंकों के शेयरों की कीमतें के नीचे आने के बाद दास ने यह बात कही। उन्होंने जमाकर्ताओं से यह भी आग्रह किया कि वे घबराकर बैंकों से पैसा नहीं निकाले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *