पिछले 24 घंटे में 39172 मरीज बढ़े, देश में अब तक 11.94 लाख केस; आंध्रप्रदेश में 5 सितंबर से खुल सकते हैं स्कूल

देश में कोरोना मरीजों की संख्या 11 लाख 94 हजार 85 हो चुकी है। मंगलवार को लगातार चौथे दिन 35 हजार से ज्यादा केस बढ़े। पिछले 24 घंटे में 39 हजार 172 नए मरीज मिले। हालांकि, राहत की बात है कि 27 हजार 589 लोग ठीक होकर अस्पतालों से डिस्चार्ज भी हो गए। ये एक दिन में अब तक का सबसे ज्यादा आंकड़ा है। इसके पहले 20 जुलाई को सर्वाधिक 24 हजार 303 लोग ठीक हुए थे। अब तक 7 लाख 52 हजार 393 लोग ठीक हो चुके हैं। ये सभी आंकड़े ये आंकड़े covid19india.org के मुताबिक हैं।

उधर, आंध्रप्रदेश सरकार 5 सितंबर से स्कूल खोलने की योजना बना रही है। सरकार ने कहा कि आखिरी फैसला एक सितंबर के करीब लिया जाएगा। उस वक्त देखा जाएगा कि कोरोना से हालात कैसे हैं।

मध्यप्रदेश: राजधानी में मंगलवार को 149 पॉजिटिव मिले। अब शहर में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 4867 पर पहुंच गई है। उधर, प्रशासन ने 25 इलाकों में 24 जुलाई तक लॉकडाउन लागू करने का फैसला किया है। शहर में शनिवार और रविवार को पूर्ण लॉकडाउन की व्यवस्था पहले से ही लागू है।

उधर, उज्जैन में संक्रमितों की संख्या एक हजार से ज्यादा हो गई है। इंदौर में मरीज 6624 हो गए हैं। वहीं, शहर में मंगलवार को 4 मरीजों ने दम तोड़ा। इसके साथ कोरोना से 300 मौतें हो गई हैं।
उत्तरप्रदेश: राज्य में मंगलवार को कोरोना के 2151 नए मामले सामने आए हैं। अब तक 53,474 लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं। पिछले 24 घंटे में 1024 लोग ठीक हुए। प्रदेश में अब कोरोना के ऐक्टिव मामलों की संख्या 20 हजार 204 पहुंच गई है। 34 लोगों ने संक्रमण के चलते जान गंवा दी। अब मरने वालों की संख्या 1229 हो गई है।
राजस्थान: जोधपुर में कलेक्टर इंद्रजीत सिंह और संभागीय आयुक्त डॉ. समित शर्मा समेत सर्वाधिक 111 रोगी मिले। संभागीय आयुक्त ने कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि कर दी है, लेकिन कलेक्टर की ओर से कोई बयान जारी नहीं हुआ है। जयपुर में 41 केस मिले लेकिन राहत की बात यह है कि लगातार पांचवें दिन यहां कोई मौत नहीं हुई। राज्य में 9 मौतों के साथ मृतकों का कुल आंकड़ा 577 हो गया। मृतकों में पाली के 5, उदयपुर के 2 और कोटा व धौलपुर का 1-1 था।
बिहार: एम्स में मंगलवार की रात भाजपा के एमएलसी सुनील कुमार सिंह (65 साल) की मौत हो गई। सुनील राज्य के पहले ऐसे नेता जिनकी कोरोना से मौत हुई। इनके अलावा, ग्रामीण कार्य मंत्री शैलेश कुमार के पीए अजीत कुमार सिन्हा समेत 15 लोगों की राज्य में कोरोना से मौत हो गई। स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि गुरु गोविंद सिंह अस्पताल और ईएसआई हॉस्पिटल में भी सौ-सौ बेड की व्यवस्था की गई है। उधर, होम आइसोलेशन में भी वे ही मरीज रहेंगे जिनमें कोविड-19 के स्पष्ट लक्षण नहीं दिख रहे हैं।

राज्य के सभी अस्पतालों में कोविड-19 संक्रमितों समेत सभी प्रकार के मरीजों की सुविधा के लिए ‘मे आई हेल्प यू’ बूथ या रिसेप्शन प्वाइंट की व्यवस्था की जाएगी। नई व्यवस्था से लोगों को स्वास्थ्य सुविधाओं संबंधी कोई भी जानकारी हासिल करने या बीमार लोगों को बात रखने में आसानी होगी। कई जिलों में टेली मेडिकल काउंसिलिंग की भी व्यवस्था की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *