पिछले 24 घंटे में 1,396 नये मामले, संक्रमित मरीजों की संख्या 28000 के करीब

नई दिल्ली। सोमवार, 27 अप्रैल 2020: कोरोना वायरस का कहर भारत में लगातार बढ़ता जा रहा है। इस महामारी के कारण कई राज्यों में मरीजों की संख्या 2000 के पार पहुंच चुकी है, जो सरकार के लिए चिंता का कारण बनता जा रहा है। अगर रफ्तार में ब्रेक नहीं लगा तो आने वाले समय में स्थिति गंभीर हो जायेगी। भारत में अब तक 872 लोग कोरोना से मारे जा चुके हैं, जबकि संक्रमित मरीजों की संख्या 28000 के करीब पहुंच गयी है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज देश का हेल्थ बुलेटिन जारी करते हुए कहा कि देश में 6,184 लोग स्वस्थ हो चुके हैं, जो कुल का 22.17 प्रतिशत है। अबतक देश में 27,892 मामले सामने आये हैं। पिछले 24 घंटे में 1,396 नए मामले सामने आये है और 48 मौतें हुई हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने यह भी बताया कि देश में 16 ऐसे जिले हैं जहां पहले मामले आए थे वहां 28 दिन से कोई केस सामने नहीं आया है। उन्होंने बताया कि इन 16 जिलों की लिस्ट में 24 अप्रैल से तीन और जिले भी शामिल हुए हैं। ये जिले महाराष्ट्र का गोंदिया, कर्नाटक का देवनगिरी और बिहार का लखीसराय हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जानकारी दी गई कि 28 दिनों से दो जिलों में कोई भी केस सामने नहीं आया था वहां नए मामले सामने आए हैं। ये दोनों जिले उत्तर प्रदेश का पीलीभीत और पंजाब का एसबीएसनगर हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से यह भी बताया गया कि देशके 25 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 85 जिलों में पिछले 14 दिन से कोई भी मामला सामने नहीं आया है।

वहीं प्रेस वार्ता में आईसीएमआर ने राज्यों को सलाह दी कि दो चीनी कंपनियों से खरीदे गए त्वरित एंटीबॉडी जांच किट का इस्तेमाल बंद करें, इन्हं लौटाएं ताकि आपूर्तिकर्ताओं को ये वापस भेजे जा सकें। आईसीएमआर की ओर से कहा गया कि गुआंगझू वोंडफो बायोटेक, झुहाई लिवजोन डायग्नोस्टिक के किट से कोरोना वायरस के जांच परिणामों में ‘व्यापक अंतर’ दिख रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort