पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 45601 मरीज बढ़े, देश में अब तक 12.39 लाख केस; महाराष्ट्र में पहली बार एक दिन में 10 हजार से ज्यादा संक्रमित मिले

देश में मरीजों की संख्या 12 लाख 39 हजार 684 हो चुकी है। बुधवार को देश में कोरोनावायरस के रिकॉर्ड 45601 मामले सामने आए। महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 10576 केस मिले हैं। यह एक दिन का सबसे ज्यादा आंकड़ा है। ये आंकड़े covid19india.org के मुताबिक हैं।

उधर, मणिपुर में गुरुवार दोपहर 2 बजे से 14 दिन का लॉकडाउन लगेगा। भोपाल में 24 जुलाई रात 8 बजे से 10 दिन का लॉकडाउन लगाया जाएगा। इस बीच खबर है कि मध्यप्रदेश के एक कैबिनेट मंत्री कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। हालांकि, उनका नाम सामने नहीं आया है। बुधवार को वे कैबिनेट मीटिंग में भी मौजूद थे। इसके अलावा, वे लखनऊ में लालजी टंडन के अंतिम संस्कार में भी शामिल हुए थे। मंत्री को अस्पताल में भर्ती किया गया है।
कोरोना अपडेट्स

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) ने बुधवार को बताया कि 22 जुलाई तक 1 करोड़ 50 लाख 75 हजार 369 टेस्ट किए जा चुके हैं। वहीं, पिछले 24 घंटे में 3 लाख 50 हजार 823 सैंपल की जांच की गई।
केंद्रीय स्वास्थ मंत्रालय ने आज सुबह अपने आंकड़े जारी किए। इसके मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 45 हजार 720 मामले सामने आए। वहीं, 1129 मौतें हुईं। इस तरह देश में संक्रमितों की संख्या 12 लाख 38 हजार 635 हो गई है। इनमें 4 लाख 26 हजार 167 एक्टिव केस हैं। वहीं, 7 लाख 82 हजार 606 स्वस्थ हो गए हैं। देश में अब तक 29 हजार 861 लोग दम तोड़ चुके हैं।
5 राज्यों का हाल

मध्यप्रदेश: भोपाल में कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से 24 जुलाई की रात आठ बजे से दस दिन का लॉकडाउन रहेगा। इसी के साथ विभिन्न क्षेत्रों के अलग-अलग जारी हुए लॉकडाउन के सभी आदेश रद्द कर दिए गए हैं। सभी बाजार गुरुवार और शुकवार को पहले की तरह खुलेंगे। अब सभी क्षेत्रों में शुक्रवार रात से सीधे 10 दिन यानी 3 अगस्त तक लॉकडाउन रहेगा। शहर में करीब डेढ़ महीने बाद फिर से लॉकडाउन लगाया जा रहा है।
भोपाल में एक हजार मरीज महज 7 दिन में ही बढ़ गए। शुरुआती दिनों में मरीजों की संख्या एक हजार तक पहुंचने में 56 दिन लगे थे। इंदौर में सीरो-सर्वे हुआ था। इसमें खुलासा हुआ कि शहर के कंटेनमेंट जोन में 8% आबादी संक्रमित है। पॉजिटिव रेट 7.72% हो गया।
महाराष्ट्र: पुणे में बुधवार को सबसे ज्यादा 3606, जबकि मुंबई में 1310 नए मामले सामने आए। पुणे में अब 63,351 और मुंबई में 1 लाख 4 हजार 678 मरीज मिल चुके हैं। सांगली में 22 जुलाई की रात 10 बजे से 30 जुलाई तक लॉकडाउन लगाया गया है।

उत्तरप्रदेश: राज्य में कोरोना संक्रमितों के बढ़ने का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जुलाई महीने के अब तक के 22 दिनों में 32677 रोगी मिल चुके हैं। छह मार्च से 30 जून तक प्रदेश में सिर्फ 23,070 मरीज ही मिले थे।

राज्य में अभी तक लगभग 15 लाख लोगों की कोरोना जांच कराई जा चुकी है। अब कुल मरीजों का आंकड़ा 55 से ज्यादा पहुंच गया है। सबसे ज्यादा 2861 एक्टिव केस लखनऊ में हैं। दूसरे नंबर पर गाजियाबाद है। यहां 1232 एक्टिव केस हैं।
राजस्थान: राज्य में कोरोनाकाल का सबसे विकराल रूप सामने आया है। राजस्थान में लगातार चौथे दिन 900 से ज्यादा संक्रमित मिले। बुधवार को 961 रोगी मिले यानी 24 घंटे के 1440 मिनट के हिसाब से हर डेढ़ मिनट में औसतन एक संक्रमित सामने आया। मरीजों का कुल आंकड़ा 32 से ज्यादा हो गया। वहीं, अलवर और बीकानेर में 3-3 मौतें हुईं।

जोधपुर में सर्वाधिक 212 रोगी मिले। इससे पहले तक कोरोनाकाल में प्रदेश के किसी भी जिले में एक दिन में 200 रोगी नहीं मिले थे। इसी के साथ जोधपुर पांच हजार से ज्यादा रोगियों वाला इकलौता जिला भी बन गया।
बिहार: राज्य में अब तक 4 लाख 9 हजार 88 सैंपल की जांच हुई है। 30066 लोग संक्रमित मिले हैं। इसके हिसाब से हर 13 में एक संक्रमित मिल रहा है। पिछले हफ्ते तक हर 16 सैंपल में एक पॉजिटिव मिल रहा था। यह आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। शुरुआत में हर 50 केस में एक केस पॉजिटिव मिल रहा था। पिछले सात दिनों की बात करें तो 71 हजार 876 सैंपल की जांच हुई और 10 हजार से ज्यादा केस मिले। यानी हर 7 सैंपल में एक संक्रमित मिल रहा है। पिछ्ले एक हफ्ते में बिहार में 49% मरीज बढ़े।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort