पायलट बोले- सत्य को परेशान किया जा सकता है, पराजित नहीं; गहलोत ने कहा- आ बैल मुझे मार वाली कहावत तो सुनी होगी

जयपुर. राजस्थान की सियासी लड़ाई में अब दोनों पक्ष खुलकर आमने-सामने हैं। डिप्टी सीएम और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से हटाए जाने के महज 15 मिनट के भीतर सचिन पायलट ने ट्वीट कर जरिए इरादे जाहिर कर दिए हैं कि वे हार मानने को तैयार नहीं। उन्होंने लिखा- सत्य को परेशान किया जा सकता है, पराजित नहीं।
इसी दौरान सीएम अशोक गहलोत मीडिया के सामने आए और पायलट ने कहा कि हमने आज भी बैठक बुलाई थी उनके लिए। हमने सोचा था ईश्वर उन्हें सद्बुद्धि दे, पर वो आज भी नहीं आए। इसके बाद सीएम ने पायलट खेमे के लिए कहा कि आपने आ बैल मुझे मार वाली कहावत तो सुनी ही होगी।

पायलट के बायो में से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और डिप्टी सीएम हटा
सचिन पायलट को डिप्टी सीएम पद और प्रदेश अध्यक्ष पद से दोपहर करीब 1.45 बजे हटाया गया। इसके एक घंटे बाद 2.45 बजे पायलट ने अपने ट्विटर हैंडल का प्रोफाइल बदल दिया। पहले इस पर डिप्टी सीएम राजस्थान और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जैसी जानकारियां दी थीं।
अब इस प्रोफाइल में केवल टोंक एमएलए, पूर्व केंद्रीय आईटी मिनिस्टर और टेरिटोरियल आर्मी के कमीशंड अफसर जैसी जानकारियां ही दी गई हैं।

फैसले के बाद गहलोत के 3 पलटवार
1. पहली बार देश खतरे में आ रहा है। जो सरकार देश में आई है, वह धनबल से राज्य की दूसरी सरकारों को तोड़-मरोड़ रही है। सरकारें बदली हैं, राजीव गांधी चुनाव हारे हैं। इस देश में ये सब कुछ हुआ है। आप सोचिए पाकिस्तान में ऐसा नहीं होता।
2. पायलट, भाजपा के हाथ में खेल रहे हैं। जो लोग मध्यप्रदेश में मैनेजमेंट कर रहे थे, वही लोग यहां लगे हैं। उन्होंने रिजार्ट मैनेज किया 2. और वो सबकुछ मैनेज कर रहे हैं। पायलट के हाथ में कुछ नहीं है, भाजपा यह शो चला रही है।
आप सोच सकते हैं कि इनका इरादा क्या है? आप बताइए 122 लोग हमारे साथ हैं। 102 कांग्रेस के है। ऐसी स्थिति में कांग्रेस का कोई विधायक फ्लोर टेस्ट की मांग कर सकता है। दरअसल, ब्लैकमेल किया गया है।
3. हमने आज भी इन लोगों के लिए बैठक बुलाई थी। हमने सोचा था कि ईश्वर इन्हें सद्बुद्धि दे दे, फिर भी ये लोग नहीं आए। आप लोगों ने आ बैल मुझे मार वाली कहावत आपने सुनी ही होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.