नीतीशे कुमार, सीटें कम पर कद बरकरार:भाजपा ने कहा- बेशक नीतीश ही बिहार के सीएम होंगे, ये चुनाव से पहले ही तय हो गया था

नई दिल्ली. बिहार में NDA को 125 का बहुमत हासिल हो गया है। सबसे ज्यादा फायदा भाजपा को हुआ। उसे 74 सीटें मिलीं यानी पिछली बार के मुकाबले 21 सीटें ज्यादा। अब तक छोटे भाई की भूमिका निभा रही भाजपा बड़े भाई के रोल में आ गई। इधर, नीतीश की सत्ता तो बच गई, लेकिन जदयू की 28 सीटें घटीं और वो 43 सीटों पर आ गई।

कयास लगाए जाने लगे कि सीटें घटने का असर नीतीश के रुतबे पर पड़ेगा। हालांकि, बुधवार को भाजपा ने साफ कर दिया कि बिहार के सीएम तो नीतीश कुमार ही होंगे। सुशील मोदी ने कहा कि इसमें कोई भ्रम नहीं है। नीतीश सीएम होंगे, यह फैसला चुनाव से पहले ही ले लिया गया था और यही कायम रहेगा। कैबिनेट मीटिंग में नजर आई मोदी की खुशी

बिहार के नतीजों के अगले ही दिन यानी बुधवार को कैबिनेट की मीटिंग हुई और मोदी इसमें बेहद खुश नजर आए। न्यूज एजेंसी एएनआई को एक सूत्र ने बताया कि प्रधानमंत्री ने जीत पर मंत्रियों को बधाई दी और वो बेहद खुश नजर आ रहे थे। सूत्र ने कहा कि क्या मोदी को खुश नहीं होना चाहिए? उनके पास खुश होने की सारी वजहें हैं।
दिग्विजय बोले- तेजस्वी को आशीर्वाद दीजिए नीतीश कुमार

सत्ता NDA को मिली है, पर बिहार में सबसे बड़ा दल बना है राजद। राजद को 75 सीटें मिलीं। उसके नेतृत्व वाले महागठबंधन को 110 सीटें मिलीं। इस आंकड़े को ध्यान में रखते हुए कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने बुधवार को 3 ट्वीट किए। इसमें उन्होंने नीतीश को हुए नुकसान के जरिए भाजपा पर निशाना साधा।

उन्होंने कहा कि भाजपा और संघ अमरबेल की तरह हैं, जिस पेड़ पर लिपट जाते हैं, वो सूख जाता है। दिग्विजय ने कहा कि नीतीश कुमार जी संघ और भाजपा की विचारधारा छोड़कर तेजस्वी को आशीर्वाद दीजिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *