दहेज प्रताड़ना की बलि बेदी पर कुर्बान हो गयी हीना

रीवा। सोमवार, 27 अप्रैल 2020 ,प्रदेश में जहां कोरोना संक्रमण के कारण लॉकडाउन चल रहा है। वहीं इस दौर में भी दहेज के कारण एक महिला के आत्महत्या करने की खबर सामने आ रही है। रीवा जिले के सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र के चोरगड़ी गांव में एक विवाहिता की दहेज के लिए हत्या करने का मामला सुर्खियों में है। स्वतंत्र खत संवाददाता से पुलिस का कहना है कि हमें सूचना मिली थी कि एक महिला ने फांसी लगा कर सुसाइड कर ली है। मृतका का संजय गांधी हॉस्पिटल रीवा से पोस्टमार्टम करवा कर शव परिजनों को सौंप दिया है।

पुलिस का यह भी कहना है दिनांक 25 अप्रैल को रात लगभग 10. 30 बजे मर्ग 36 /20 कायम कर, आगे की जांच CSP कोतवाली कर रहे हैं। इस संबंध में महिला के पिता रामलखन शुक्ला निवासी, कैलाशपुरी नियर विश्वविद्यालय रीवा (ग्राम खैरा ) का कहना है कि यह दहेज हत्या का मामला है ।

अस्पताल में हुआ हंगामा –

महिला के ससुराल पक्ष ने महिला के मायके पक्ष को घटना की जानकारी हिना की मौत हो जाने के बाद दी। महिला के मायके पक्ष का कहना है कि दिन में ही हमारी बेटी को गाला दबा कर मार दिया गया है और हॉस्पिटल केवल पोस्टमॉटम के लिए लाया गया है। इसके बाद ससुराल पक्ष ने मायके पक्ष ने के ऊपर ही आरोप लगाते हुए गाली गलौज करना शुरु कर दिया। हॉस्पिटल में हंगामा होने पर पुलिसिया हस्तक्षेप के बाद मामला शांत कराया गया । यह हंगामा करीब एक घंटे से अधिक अस्पताल परिसर में चलता रहा।

ससुर है तहसीलदार , कौन करेगा कार्रवाई ?

मृतक हीना द्विवेदी का ससुर शिव गोपाल द्विवेदी नायब तहसीलदार है जिनका जबलपुर जिले में पदस्थ होना बताया जा रहा है। वही मृतक का पति डम्फर कारोबारी है। मृतक महिला के मायके पक्ष का कहना कि शिव गोपाल द्विवेदी और उनका परिवार ने अपने रसूक के चलते हमारी बेटी की हत्या कर दी और अभी भी वह पुलिस के संरक्षक में खुले घूम रहे हैं। पुलिस हत्या के तीन दिन बाद भी जाँच के नाम पर मामले को लटकाये हुए है। अभी तक हत्यारों पर प्रकरण तक दर्ज भी नहीं किया गया है। कहा से मिलेगा न्याय कौन करेगा जाँच? हत्या के सीधे सीधे मामलों को आत्महत्या साबित करने में पूरा परिवार लगा हुआ है।

जून 2019 में हुई थी शादी –

जानकारी के मुताबिक चोरगड़ी निवासी हीना द्विवेदी पति तपेश्वर द्विवेदी 27 वर्ष रविवार को घर में फंसी के फंदे से लटकती देखी गई। महिला को फंदे से उतारकर परिजनों ने आनन-फानन में उसे उपचार के लिए संजय गांधी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी उपचार के दौरान मौत हो गई। मौत की जानकारी होने पर महिला के मायके पक्ष के लोग अस्पताल में पहुंचे और ससुराल पक्ष के ऊपर दहेज प्रताडऩा एवं हत्या का आरोप लगाया।

महिला के मायके पक्ष ने बताया कि उसका विवाह जून 2019 में तपेश्वर के साथ हुआ था। उन्होंने दहेज मांगने के अनुसार कम रूपये दिए थे। लिहाजा महिला को लगातार उसके ससुराल वाले दहेज न मिलने का ताना मारते हुए प्रताड़ित करते थे। जरा -जरा सी बातों का बतंगड़ बना कर मार पीट की जाती थी। जिसकी खबर महिला ने मायके पक्ष को फोन के माध्यम से बताई थी। वहीं मायके पक्ष ने आरोप लगाया है कि दहेज न मिलने पर ससुराल पक्ष ने उसकी गला घोटकर हत्या कर दी है और इसके बाद फांसी पर लटकाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort