दंगाइयों से मंदिर को बचाने के लिए मुस्लिम युवकों ने ह्यूमन चेन बनाई, आपत्तिजनक पोस्ट लिखने पर कांग्रेस विधायक का भतीजा गिरफ्तार

बेंगलुरु.बेंगलुरु में मंगलवार की रात एक आपत्तिजनक फेसबुक पोस्ट को लेकर डीजे हल्ली और केजी हल्ली इलाकों में हिंसा हुई। एक पुलिस स्टेशन को आग के हवाले कर दिया। हालात को काबू करने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। इसमें तीन लोगों की मौत हो गई। दो लोगों ने देर रात ही दम तोड़ दिया। वहीं, एक व्यक्ति की इलाज के दौरान बुधवार सुबह मौत हो गई। इस हिंसा में 60 से ज्यादा पुलिसकर्मी जख्मी हो गए। इनमें एक एडिशनल पुलिस कमिश्नर भी शामिल हैं।

उधर, डीजे हल्ली इलाके में दंगाइयों से मंदिर को बचाने के लिए मुस्लिम युवकों ने ह्यूमन चेन बनाई। बताया जा रहा है कि जब तक दंगाई वहां से चले नहीं गए, तब तक वे वहीं खड़े रहे। सोशल मीडिया समेत सभी जगह इन युवकों की तारीफ हो रही है।
सुलह की सलाह रास नहीं आई
पुलिस का कहना है कि कुछ लोग विवादित पोस्ट के मामले में शिकायत दर्ज कराने थाने पहुंचे थे। उन्हें आपसी सुलह से विवाद निपटाने की सलाह दी गई। यह बात उन्हें रास नहीं आई और वे नारेबाजी करने लगे। देखते ही देखते पत्थरबाजी शुरू हो गई। इसके बाद भीड़ ने थाने और विधायक के घर तोड़फोड़ और आगजनी की।
क्यों हुई हिंसा?
आरोप है कि कांग्रेस के विधायक श्रीनिवास मूर्ति के भतीजे नवीन ने पैगंबर मोहम्मद को लेकर एक आपत्तिजनक पोस्ट की। इससे मुस्लिम समुदाय नाराज हो गया। कमिश्नर कमल कांत ने बताया कि आरोपी नवीन को गिरफ्तार कर लिया गया है। कर्नाटक के गृह मंत्री बसवराज बोम्‍मई ने कहा कि हिंसाग्रस्त इलाकों में अतिरिक्त बल तैनात किया गया है। उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

लाइव अपडेट्स

बेंगलुरु में हिंसा पर कर्नाटक के मंत्री सीटी रवि ने कहा कि मुझे लगता है कि यह एक सुनियोजित दंगा था। सोशल मीडिया पर पोस्ट होने के एक घंटे के भीतर हजारों लोग इकट्ठा हुए और 200-300 वाहनों और विधायक के आवास को नुकसान पहुंचाया। एसडीपीआई इसके पीछे है।
बेंगलुरु शहरी क्षेत्र के उपायुक्‍त जीएन शिवमूर्ति ने डीजे पुलिस स्‍टेशन का दौरा किया। उन्होंने बताया कि हिंसा में डीजे पुलिस स्‍टेशन को बहुत नुकसान पहुंचा है।
पुलिस ने हिंसा के मामले में सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) के नेता को गिरफ्तार किया गया है। अभी इसके नाम का खुलासा नहीं किया गया है।
मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने ट्वीट कर हिंसा की निंदा की है। उन्होंने ने लिखा, ‘मीडिया, पुलिस और लोगों पर हमला करना ठीक नहीं है, ये बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। लोग शांति बनाकर रखें।
बेंगलुरु सिटी पुलिस कमिश्नर कमल कांत ने बताया कि हालात नियंत्रण में है। डीजे हल्ली और केजी हल्ली पुलिस स्टेशन में कर्फ्यू लगाया गया और बाकी शहर में धारा 144 लागू की गई। आरएएफ, सीआरपीएफ और सीआईएसएफ की कुछ कंपनियां मदद के लिए बुला ली गई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.