तीन अगस्त को सील हो जाएंगी अयोध्या की सीमाएं,

अयोध्या. अयोध्या में पांच अगस्त को होने वाले भूमि पूजन के लिए पूरे नगर को एक अभेद्य दुर्ग में बदलने की तैयारी है। तीन अगस्त को नगर की सीमाएं सील कर दी जाएंगी। वहीं, सुरक्षा के लिए भारी भरकम फोर्स तैनात की जाएगी।

चार व पांच अगस्त को अयोध्या की सुरक्षा में 3500 पुलिसकर्मी, 40 कंपनी पीएसी, 10 कंपनी आरएएफ, दो डीआईजी व आठ पुलिस अधीक्षक तैनात रहेंगे। सुरक्षा की कमान एडीजी कानून व्यवस्था संभालेंगे।
बता दें कि कोरोना संक्रमण के कारण सुरक्षा व्यवस्था में 45 साल से कम उम्र के सुरक्षकर्मी ही तैनात किए जाएंगे। बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री की मौजूदगी के मद्देनजर अयोध्या हाइवे भी चार-पांच अगस्त को बंद किया जा सकता है।
वहीं, तैयारियों को परखने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी तीन अगस्त को अयोध्या का दौरा करेंगे जहां वह व्यवस्थाओं का निरीक्षण करेंगे। मुख्यमंत्री योगी रविवार को ही अयोध्या जाने वाले थे लेकिन कोरोना संक्रमण के कारण कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण के निधन के ही बाद उन्होंने दौरा स्थगित कर दिया।
कांग्रेस ने किया राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट के सभी निर्णयों का समर्थन
कांग्रेस ने अयोध्या में बनने जा रहे राम मंदिर के लिए गठित ट्रस्ट के सभी निर्णयों के समर्थन की घोषणा की है। कोरोनाकाल में राम जन्मभूमि पूजन में शामिल होने वाले लोगों और भाजपा-संघ के बुजुर्ग नेताओं के सवाल पर कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने कहा, कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का स्वागत करती है। राम मंदिर करोड़ों हिंदुस्तानियों की आस्था से जुड़ा है, उसके निर्माण का भी स्वागत करती है।

उन्होंने कहा, राम मंदिर के लिए जो भूमिपूजन हो रहा है, इसमें कौन हिस्सा लेगा, कौन नहीं लेगा, यह निर्णय सिर्फ ट्रस्ट का है। जो निर्णय लेंगे, हम उसका समर्थन करते हैं। जो ट्रस्ट का निर्णय है और जिस भी व्यक्ति को इसमें शामिल होना है और नहीं होना है, ये उनका निर्णय है। बता दें कि सपा व बसपा ने भी राममंदिर को लेकर कोर्ट के निर्णय का स्वागत किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort