ठंडी हवाओं ने कराया सर्दी का एहसास:प्रदेश में पचमढ़ी और नौगांव सबसे ठंडा रहा; राजधानी भोपाल में रात का पारा 1 डिग्री सेल्सियस गिरा

भोपाल. निवार तूफान के कमजोर होने के कारण सर्द हवाओं ने जोर पकड़ा और भोपाल समेत मध्य प्रदेश में लोगों को सर्दी का एहसास कराया। हालांकि तापमान में ज्यादा गिरावट दर्ज नहीं की, लेकिन 30 किलोमीटर प्रतिघंटे की गति से ठंडी हवाओं के कारण लोगों को गुरुवार और शुक्रवार सुबह ठंड महसूस हुई। प्रदेश में पचमढ़ी और नौगांव सबसे ठंडा रहा। यहां रात का न्यूनतम तापमान 9 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। जबकि भोपाल में रात के पारे में एक डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। यह 13.8 से गिरकर 12.8 डिग्री सेल्सियस तक आ गया। कुछ जगहों पर सुबह कोहरा भी रहा। हालांकि कोहरा शहर में नहीं था।
दिसंबर का पहला सप्ताह सामान्य रहेगा

मौसम वैज्ञानिक वेद प्रकाश सिंह ने बताया कि अगले चौबीस घंटों में तापमान में कुछ और गिरावट रहेगी, लेकिन ठंड सर्द हवाओं के तेज गति के चलने के कारण रहेगी। तापमान में ज्यादा अंतर नहीं होगा। पश्चिमी विक्षोभ नहीं आ रहा है। अब बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है। उससे मौसम में फिर बदलाव आएगा। बादल छाने के कारण दिसंबर के पहले सप्ताह में लोगों को ठंड से राहत रहेगी। मौसम भी सामान्य रहेगा।
तापमान में ज्यादा अंतर नहीं

सिंह ने बताया कि पश्चिमी मध्यप्रदेश के पचमढ़ी और पूर्वी मध्यप्रदेश के नौगांव में सबसे कम 9 डिग्री सेल्सियस तक तापमान आ गया। खजुराहो में 10 डिग्री सेल्सियस और रायसेन में 10.5 डिग्री सेल्सियस सबसे कम तापमान दर्ज किया गया। इसके अलावा सभी जगह 11 डिग्री से ज्यादा ही न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया। सबसे ज्यादा छिंदवाड़ा में 16.5 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान रहा। सिर्फ ठंडी हवाओं के तेज गति से चलने के कारण लोगों को ठंडी महसूस हुई। हालांकि एक-दो दिन इसी तरह तापमान रहेगा। निवार के पूरी तरह खत्म होने के बाद मौसम में बदलाव आएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.