जम्मू-कश्मीर में एनकाउंटर / शोपियां के पिंजोरा इलाके में सुरक्षा बलों ने 4 आतंकियों को मार गिराया, 2 दिन में 9 दहशतगर्द ढेर

शोपियां. जम्मू-कश्मीर के शोपियां में पिंजोरा इलाके में सुरक्षा बलों ने सोमवार को एनकाउंटर में 4 आतंकियों को मार गिराया। चारों के शव और हथियार बरामद हो गए हैं। ऑपरेशन खत्म हो चुका है। दहशतगर्दों के छिपे होने की सूचना पर सुरक्षा बलों ने तलाशी अभियान शुरू किया था। आतंकियों ने गोलियां चलानी शुरू कर दी थीं, जवाब में सुरक्षा बलों को भी फायरिंग करनी पड़ी।

मारे गए आतंकी हिज्बुल मुजाहिदीन के थे
दो आतंकियों के नाम सामने आ गए हैं। इनमें उमर धोबी और रईस खान शामिल हैं। ए कैटेगरी के ये आतंकवादी 2018 से सक्रिय थे। उमर पिंजोरा का ही रहने वाला था। वह बटगुंड कापरेन में पुलिस जवानों पर फायरिंग की उस घटना में शामिल था, जिसमें 3 जवान शहीद हुए थे। आतंकवादी घटनाओं में उमर के खिलाफ 10 एफआईआर दर्ज थीं। वह सुरक्षा बलों पर पत्थरबाजी की घटनाओं में सक्रिय रहता था। राजस्थान से एक ट्रक ड्राइवर के अपहरण और हत्या के मामले में भी शामिल था।

रईस खान वेहिल शोपियां का रहने वाला था। उसके खिलाफ 5 एफआईआर थीं। वह शोपियां में आर्मी कैंप और पेट्रोलिंग पार्टी पर फायरिंग और 3 लोगों की हत्या की घटनाओं में शामिल था। स्पेशल पुलिस अफसर खुशबू जन जिस आतंकी हमले में शहीद हुई थीं, उस हमले में भी रईस शामिल था।

24 घंटे में दूसरा एनकाउंटर, 9 आतंकी मारे गए
सुरक्षा बलों ने रविवार को शोपियां के ही रेबन गांव में 5 आतंकवादियों को ढेर कर दिया था। एनकाउंटर में पुलवामा और कुलगाम का हिज्बुल कमांडर फारुक अहमद भट उर्फ नाली भी मारा गया। वह ए++ आतंकवादियों की लिस्ट में शामिल था।

2 हफ्ते में 6 टॉप कमांडर समेत 22 आतंकी ढेर
जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया कि पिछले दो हफ्ते में सुरक्षा बलों ने 9 एनकाउंटर में 22 आतंकी मार गिराए। इनमें से 6 टॉप कमांडर थे। इस साल अब तक 36 ऑपरेशन में 88 आतंकी मारे जा चुके हैं। डीजीपी ने बताया कि कश्मीर इलाके में लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) पर आतंकी ठिकानों में 150-250 आतंकी हो सकते हैं। जम्मू इलाके में 125-150 आतंकियों के होने का अनुमान है।

8 दिन में 6 एनकाउंटर, 18 आतंकी मारे गए
इंटेलीजेंस एजेंसी ने पिछले महीने पाकिस्तान से आतंकी घुसपैठ का अलर्ट किया था। उसके बाद सुरक्षा बलों ने जम्मू-कश्मीर में तलाशी अभियान छेड़ रखा है।

1 जून: नौशेरा सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश करते हुए 3 पाकिस्तानी आतंकियों को सुरक्षा बलों ने मार गिराया।

2 जून: पुलवामा के त्राल इलाके में 2 आतंकी मारे गए।

3 जून: पुलवामा के ही कंगन इलाके में सुरक्षा बलों ने 3 आतंकियों को ढेर कर दिया।

5 जून: राजौरी जिले के कालाकोट में एक आतंकवादी मारा गया।

7 जून: शोपियां के रेबन गांव में 5 आतंकी मारे गए।

8 जून: शोपियां के पिंजोरा इलाके में 4 आतंकी ढेर।

दक्षिण कश्मीर से बेस शिफ्ट कर रहे आतंकवादी
5 जून को राजौरी में सुरक्षा बलों ने जिस आतंकवादी को ढेर किया था, वह उसी ग्रुप का था जो कश्मीर से मुगल रोड के रास्ते शोपियां होते हुए कालाकोट आया था। सुरक्षाबलों के मुताबिक कश्मीर घाटी में जारी ऑपरेशन की वजह से ये आतंकी भागकर जम्मू सेक्टर में पहुंचे थे।

सुरक्षाबलों ने बताया कि जब से घाटी में एक आतंकी संगठन के टॉप कमांडर का खात्मा किया है, तब से आतंकी दक्षिण कश्मीर से अपना बेस राजौरी और पुंछ में शिफ्ट कर रहे हैं।

पिछले महीने 4 एनकाउंटर, 6 आतंकी मारे गए
31 मई, कुलगाम: वानपोरा इलाके में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में 2 आतंकियों को मार गिराया।
19 मई, श्रीनगर: सुरक्षाबलों ने डाउनटाउन इलाके में हिजबुल मुजाहिदीन के 2 आतंकियों को मार गिराया। इसमें से एक जुनैद सहराई था जो अलगाववादी संगठन तहरीक-ए-हुर्रियत प्रमुख मोहम्मद अशरफ सहराई का बेटा था।
16 मई, डोडा: सुरक्षाबलों ने खोत्रा गांव में हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी ताहिर को 5 घंटे चली मुठभेड़ में मार गिराया था।
6 मई, पुलवामा: हिजबुल मुजाहिदीन का टॉप कमांडर रियाज नायकू मारा गया। वह 2 साल से मोस्ट वॉन्टेड लिस्ट में शामिल था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort