जन्मदिन के गिफ्ट में नाबालिग छात्र ने नौवीं की छात्रा से मांगी अश्लील तस्वीरें, बड़े भाई के साथ मिलकर ब्लैकमेल किया.. फिर सोशल मीडिया पर डाल दी

दोनों एक स्कूल में थे, दोस्ती हो गई। इस बात को करीब एक साल से ज्यादा हो गया। दोनों में सोशल मीडिया पर बातें होती थीं जो पहले हंसी-मजाक तक सीमित थी। 30 जनवरी 2020 की एक घटना ने नौवीं की छात्रा की पूरी जिंदगी दांव पर लगा दी।

9वीं के ही दोस्त ने उसे इमोशनली कह दिया कि- तुम्हारा फोटो मुझे गिफ्ट में मुझे भेजो, क्योंकि आज मेरा बर्थ डे है। यह तक कह डाला कि नहीं भेजा तो मर जाऊंगा। 14 साल की लड़की भावुक हो गई और उसने अपना फोटो भेज दिया। कुछ महीने तो सब ठीक था और इसी बीच वह यह भी कहता रहा कि मुझे यार, तुम्हारी फोटो नहीं बुलवानी थी।

लेकिन, जून 2020 में उसी लड़के ने अपनी दोस्त का परिचय अपने बड़े भाई से करा दिया। और तो और, भेजी गई फोटोज भी दिखा दी। यह देख एक बड़े कॉलेज से पासआउट बड़े भाई की नीयत खराब हो गई। यहां से अचानक छोटे भाई का रूख भी बदलने लगा।

जुूलाई 2020 में छोटा भाई उससे प्यार भरी बातें करने लगा और शादी के ख्वाब दिखाए। और यह कहता रहा कि तुम तो फोटो भेजाे यार, किसी को नहीं दिखाऊंगा। शादी भी तो हमें ही करना है।जब नाबालिग ने उसे कुछ फोटो भेजे तो वह अचानक आंखें दिखाने लगा। उसने मैसेज भेजा कि न्यूड फोटो भेजो, वर्ना वायरल करके बदनाम कर दूंगा। अचानक ऐसी बातें सुनकर नाबालिग लड़की घबरा गई और उसने न्यूड फोटो तक भेज डाले।

न्यूड फोटो आते ही लड़के के अपने बड़े भाई (जिससे पहले परिचय कराया था) और कुछ दोस्तों को शेयर किया तो उन्होंने भी ब्लैक मेल करना शुरू कर दिया।

इसके बाद आरोपी लड़के (वह भी नाबालिग है) ने उसे सोशल मीडिया पर कॉल करना शुरू कर दिया। हालांकि, लड़की ने दो बार ही फोन उठाए लेकिन वह परेशान हाेने लगी। 24 सितंबर को लड़के ने कहा कि तुम तो आज बाथरूम से वीडियो कॉल करो…। यह सुनते ही लड़की डर गई। उसने यह बात नहीं मानी और मानसिक रूप से परेशान होकर बीमार हो गई।

मना करने पर आरोपी, उसके भाई व अन्य ने मिलकर उसके नाम से मिलती-जुलती फर्जी आईडी बनाकर उसके आपत्तिजनक फोटो अपलोड कर दिए। लड़के ने फोन करके कहा कि- जैसा मैं कहता हूं, वैसा ही करो, वर्ना तुम जानती हो मेरे बड़े भैया मोबाइल पर क्या -क्या कर सकते हैं।

लड़की ने जब यह बात फिर से नहीं मानी तो उसने मिलते जुलते नाम की ही दूसरी आईडी उसी दिन बनाकर फिर कुछ फोटोज अपलोड कर दिए। इसके बाद कई अन्य लोगों के कॉल लड़की के पास आने लगे। इससे परेशान होकर अंतत: लड़की ने लड़के के बड़े भाई से मिलने का फैसला किया। जब वो उससे मिली तो उसने कहा- तुम फंस गई हो, जैसा वो कहे, वैसा ही करो।

अंतत: 10 अक्टूबर को लड़की के नाम से ही तीसरी आईडी बनाकर फोटो अपलोड कर दी। बेटी को गुमसुम देख मां को शक हुआ, पूछने पर सारी कहानी सामने आई। इसके बाद पीड़िता ने पूरी कहानी परिवार को बताई। इसके बाद पुलिस को जानकारी दी गई तो पुलिस ने दोनों भाइयों के खिलाफ नामजद केस दर्ज कर लिया है। नौ महीने प्रताड़ित रहने के बाद 12 अक्टूबर को केस दर्ज कराया, इसमें मंगलवार देर रात एक आरोपी की गिरफ्तारी की गई है।

बड़ी भाजपा नेत्री का करीबी है आरोपी का पिता

सूत्रों के अनुसार, आरोपी प्रदेश भाजपा की एक बड़ी नेत्री के स्टाफ में पदस्थ रहे अधिकारी का बेटा है। इसी के चलते एफआईआर के बावजूद 10 दिन बाद भी कार्रवाई नहीं की गई। पीड़िता के परिवार ने मामले के संबंध में आवाज उठाई तो अचानक पुलिस एक्शन में आई। नाबालिग आरोपी को गिरफ्तार किया है जबकि उसका बड़ा भाई फरार है।

डीआईजी बोले- आरोपी नाबालिग है, कुछ नहीं कहूंगा

इस मामले में एफआईआर की गई थी। आरोपी और फरियादी दोनों ही नाबालिग हैं। इसमें गिरफ्तारी कर उन्हें कोर्ट में पेश किया जा चुका है। मामला नाबालिग का होने के कारण इस मामले में ज्यादा जानकारी नहीं दी जा सकती है। -इरशाद वली, डीआईजी भोपाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *