चीन-पाक को चेतावनी:CDS रावत बोले- चीन की हरकतों का सेना करारा जवाब दे रही, बालाकोट स्ट्राइक पाक को कड़ा संदेश था

नई दिल्ली. सीमा विवाद पर भारत-चीन की बातचीत के बीच चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) बिपिन रावत ने शुक्रवार को एक वेबिनार में बोलते हुए कहा कि लद्दाख में भारत-चीन सीमा पर तनाव बना हुआ है। रावत ने कहा कि लद्दाख में चीन की आर्मी की गलत हरकतों का भारतीय सेना करारा जवाब दे रही है। हमारा रुख साफ है, हम लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) की स्थिति में कोई बदलाव नहीं होने देंगे।

रावत ने कहा कि बालाकोट में सर्जिकल स्ट्राइक पाकिस्तान के लिए कड़ा संदेश था कि भारत में आतंकी भेजे तो बख्शेंगे नहीं। आतंकवाद से निपटने के भारत के नए तरीके ने पाकिस्तान की चिंता बढ़ा दी है।

‘पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में प्रॉक्सी वॉर छेड़ रखा है’
रावत ने कहा कि चीन के साथ युद्ध की आशंका कम है, लेकिन सीमा पर बेवजह के एक्शन की वजह से होने वाले बड़े टकरावों की अनदेखी नहीं कर सकते। रावत ने पाकिस्तान पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में प्रॉक्सी वॉर छेड़ रखा है, इस वजह से दोनों देशों के रिश्ते बेहद बिगड़े हुए हैं।

विवाद सुलझाने के लिए भारत-चीन के बीच बातचीत जारी
सीमा विवाद सुलझाने के लिए पूर्वी लद्दाख के चुशूल इलाके में भारत-चीन के कॉर्प्स कमांडर के बीच आज 8वें राउंड की बातचीत हो रही है। इससे पहले हुई मीटिंग्स में तनाव कम करने और LAC की स्थिति में बदलाव नहीं करने पर सहमति बनी थी, लेकिन चीन बार-बार शर्तें तोड़ देता है।

लद्दाख में भारत-चीन के बीच अप्रैल के बाद से लगातार विवाद बना हुआ है। 15 जून को दोनों देशों के सैनिकों के बीच झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए। चीन के भी 40 से ज्यादा सैनिक मारे गए थे। इस घटना के बाद तनाव और बढ़ गया। विवाद सुलझाने के लिए दोनों देशों के बीच आर्मी और डिप्लोमेटिक लेवल की कई मीटिंग्स हुईं, लेकिन चीन बार-बार अपनी बात से पीछे हट जाता है।

29-30 अगस्त की रात चीन ने लद्दाख में एक पहाड़ी पर कब्जे की कोशिश की, लेकिन सेना ने नाकाम कर दी। इसके बाद भी चीन घुसपैठ की कोशिशें करता रहा, लेकिन भारतीय जवानों के आगे उसे हर बार पीछे हटना पड़ा। चीन की हरकतों को देखते हुए भारत ने लद्दाख के विवादित इलाकों में जवान बढ़ा दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort