‘चाय पर चर्चा’:पहले दिन 2 मंत्रियों से मिले CM, प्रदेश में शुरू होगी ‘मरीज मित्र योजना’, स्किल डेवलपमेंट के लिए भोपाल में बनेगा ग्लोबल पार्क, 10000 बच्चे सीख सकेंगे हुनर

भोपाल.मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रियों के साथ ‘चाय पर चर्चा’ शुरू कर दी है। उन्होंने गुरुवार सुबह चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग को अपने निवास पर बुलाया। सारंग ने मुख्यमंत्री को विभाग के रोडमैप की जानकारी दी।

बैठक के बाद सारंग ने बताया कि सीएम से चर्चा में तय हुआ है कि मध्य प्रदेश में ‘ईज ऑफ हेल्थ सर्विसेज’ शुरू की जाएगी। इसके तहत लोगों को समय पर गुणवत्तापूर्ण इलाज मिल सकेगा। मुख्यमंत्री के साथ ऐसे 25 बिंदुओं पर चर्चा हुई, जिसे अगले तीन साल में लागू किया जाएगा।

सारंग ने बताया कि नेशनल हेल्थ कमीशन की गाइडलाइन को लागू किया जाएगा। इसके तहत मप्र में हेल्थ मैनेजमेंट, क्रिटिकल केयर और इमरजेंसी मेडिसिन के पीजी कोर्स शुरू किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि मप्र में मरीज मित्र योजना शुरू करने जा रहे हैं। इससे अस्पतालों में मरीजों के इलाज में आर्थिक सहयोग के लिए निजी संस्थाओं को आगे आने के लिए प्रेरित किया जाएगा।
हर जिले में बनेगा मेडिकल कॉलेज
सारंग ने बताया कि नीति आयोग की सिफारिश के अनुसार हर जिले में एक मेडिकल कॉलेज खोलने को लेकर मुख्यमंत्री ने सैद्धांतिक सहमति दे दी है। जल्दी ही प्लान तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं।
भोपाल में होगा मेडिकल मंथन
मंत्री के मुताबिक मेडिकल सर्विसेज को बेहतर बनाने के लिए भोपाल में मेडिकल मंथन का आयोजन किया जाएगा। दो दिवसीय इस आयोजन में देश भर से चुनिंदा स्वास्थ्य विशेषज्ञों को आमंत्रित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि मेडिकल कॉलेजों से संबद्ध अस्पतालों के उन्नयन को लेकर भी मुख्यमंत्री से चर्चा हुई है।

भोपाल में बनेगा गैस त्रासदी स्मारक
मंत्री ने बताया कि भोपाल में यूनियन कार्बाइड प्लांट के निकट गैस त्रासदी स्मारक बनाया जाएगा। उन्होंने बताया कि जहरीला कचरा निष्पादन के लिए 15 दिन में टेंडर जारी कर दिया जाएगा।

यशोधरा ने बताया-ग्लोबल पार्क में 10 हजार बच्चों का स्किल डेवलपमेंट
खेल, तकनीकी शिक्षा एवं कोशल विकास मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने बताया कि चाय पर चर्चा के दौरान सीएम से ग्लोबल स्किल पार्क को लेकर बातचीत हुई है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री 2017 में सिंगापुर दौरे पर गए थे, तब उन्होंने मप्र में इस तरह के ग्लोबल पार्क की कल्पना की थी। मंत्री ने बताया कि इस पार्क के निर्माण के लिए टाटा कंसल्टेंसी को एजेंसी नियुक्त किया गया है। इस पार्क में 10 हजार बच्चों का स्किल डेवलपमेंट करने की योजना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort