गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा- कांग्रेस विधायकों को भ्रम में रखने के लिए शपथ दिलाई जा रही, विधायकों को कमलनाथ पर कभी भरोसा नहीं रहा

रविवार रात कांग्रेस विधायक दल की बैठक आयोजित की गई थी, इसमें कांग्रेस विधायकों से आगे नहीं टूटने के लिए शपथ दिलाई गई
गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस पर अपने ही विधायकों को भ्रम में रखने का आरोप लगाया। कहा- कांग्रेस विधायकों को भ्रम में रखने शपथ दिलाई जा रही है। गृह मंत्री ने ट्वीट के जरिए कहा ‘कमलनाथ पर कांग्रेस के विधायकों का कभी भरोसा नहीं रहा, जब वो मुख्यमंत्री थे तब भी नहीं और अब भी नहीं। उनकी पार्टी टूट रही है तो शपथ की बात इसलिए कह रहे हैं ताकि विधायक भ्रम में रहें, लेकिन अब कोई भ्रम में रहने को तैयार नहीं।’

मिश्रा ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि कांग्रेस सिर्फ दलितों के नाम पर राजनीति करती है। दिग्विजय सिंह हों या कमलनाथ- सभी को ट्वीट के माध्यम से राजनीति की जल्दी रहती है। कांग्रेस की जब 15 महीने की सरकार थी तब दलित पर जुल्म को लेकर किसी का ट्वीट नहीं दिखता था।

क्या है पूरा मामला

दरअसल, रविवार रात कांग्रेस विधायक दल की बैठक आयोजित की गई थी। इस बैठक में कांग्रेस विधायकों के टूटने का सिलसिला जारी रहने की चिंता विधायक दल की बैठक में साफतौर पर दिखाई दी। विधायकों का कहना था कि जिसे पार्टी छोड़ना है उसे कोई रोक नहीं सकता, वह अपने परिवार की भी नहीं सुनेगा तो हमारी क्या मजाल।
पूर्व मुख्यमंत्री व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने विधायकों में एकजुटता का संदेश देते हुए कहा कि अब अगली विधायक दल की बैठक सरकार बनाने के लिए होगी। सरकार बनाने के लिए हमें नेता जो चुनना होगा।
कांग्रेस नेताओं के बार-बार पार्टी से 24 विधायकों के टूटने का दर्द सामने आने पर पूर्व मंत्री ओमकार सिंह मरकाम ने बैठक में मौजूद सभी विधायकों से शपथ लेने का प्रस्ताव रखा। इसके बाद नाथ की मौजूदगी में उपस्थित सभी 85 विधायकों ने शपथ ली कि अब पार्टी से आगे कोई भी नहीं टूटेगा और पूरी शिद्दत से कांग्रेस सरकार की वापसी मे एकजुटता से लगेंगे।
बैठक में स्वास्थ्य कारणों से प्रवीण पाठक, लखन घनघोरिया और टामलाल सहारे उपस्थित नहीं हो सके। आरिफ अकील और लक्ष्मण सिंह अन्य कारणों से नहीं आ पाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.