खूनी संघर्ष में 22 साल के युवा की मौत:भोपाल में चौराहे के नाम को लेकर दो पक्ष आपस में भिड़े; लाठी-डंडों से लेकर गोलियां तक चली, छह से अधिक घायल

भोपाल के ईटखेड़ी थाना क्षेत्र में एक चौराहे के नाम को लेकर विवाद इतना बढ़ा कि उसमें 22 साल के एक लड़के की जान तक चली गई, जबकि 6 से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। चौराहे पर समाज के नाम का बोर्ड लगाने को लेकर कहासुनी के बाद लाठी-डंडे और गोली तक चलाई गई। इस खूनी संघर्ष के घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया है, जबकि पुलिस ने एक महिला समेत 15 से अधिक लोगों पर हत्या के प्रयास और बलवा समेत 6 से अधिक धाराओं में एफआईआर कर ली है। इलाके में भारी पुलिस बल तैनात किया गया।

एएसपी दिनेश कौशल ने बताया कि बुधवार रात करीब 9:00 बजे पाल समाज की तरफ से ग्राम डोबरा की एक सड़क पर बोर्ड लगा दिया गया। इसको लेकर मीणा समाज ने विरोध जताया और वहां करीब 100 से अधिक लोग जमा हो गए। पहले तो दोनों पक्षों में कहासुनी हो रही थी, फिर वह मारपीट में बदल गई। देखते ही देखते लाठी-डंडों से एक दूसरे पर हमला कर दिया। इसी दौरान एक व्यक्ति ने बंदूक लाकर वहां पर फायर करने शुरू कर दिए।

बारह बोर की बंदूक से गोली चलने से दो से अधिक लोगों को इसके छर्रे लग गए। इसमें से 22 साल के शुभम मीना नाम के एक लड़के की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 45 साल के करण मीना छर्रे लगने से गंभीर रूप से घायल बताए जाते हैं। इसके अलावा भी 6 से अधिक लोग घायल हुए हैं। सभी को अस्पतालों में भर्ती किया गया है। इधर, पुलिस ने संतोष मीना की शिकायत पर संजय पाल, निर्मल पाल, प्रदीप, नरेश, शुभम, सुरेश, जनक सिंह, बद्री प्रसाद, स्वप्नेश, निर्भय सिंह, मल्लू सौदान सिंह, राजेश, नर्मदा प्रसाद, लखन, विनोद, सोहनलाल और बंतीबाई पर हत्या के प्रयास, मारपीट, गाली-गलौज झगड़ा, जान से मारने की धमकी और बलवा समेत 6 से अधिक धाराओं में एफआईआर की है।

हालात पर नियंत्रण पाने के लिए 3 से अधिक थानों की पुलिस बुलाई
झगड़ा रात करीब 9:30 बजे शुरू हुआ था। सूचना मिलते ही ईटखेड़ी, बैरसिया और गांधीनगर थाना क्षेत्र की पुलिस मौके पर पहुंच गई। देर रात तक पुलिस घायलों को अस्पताल पहुंचाती रही। पुलिस कंट्रोल रूम से भी अतिरिक्त बल भेजा गया। मृतक शुभम मीना का शव पोस्टमार्टम के लिए हमीदिया अस्पताल पहुंचा दिया गया। पुलिस ने तड़के करीब 4:00 बजे इस मामले में एफआईआर की और आरोपियों की धरपकड़ शुरू कर दी। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

लंबे समय से चल रहा है दोनों पक्षों के बीच विवाद
चौराहे के नाम को लेकर वहां लंबे समय से दोनों पक्षों में विवाद चल रहा है। एएसपी दिनेश कौशल के अनुसार देर रात पाल समाज के एक व्यक्ति ने वहां पर समाज का बोर्ड लगा दिया था। इसको लेकर ही विवाद इतना बढ़ गया। दोनों पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया। यह विवाद दोनों पक्षों में लंबे समय से चल रहा है। इस चौराहे को वे अपने-अपने समाज के नाम पर रखना चाहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *