कोरोना संकट – विद्यालयों में प्रवेश के लिए न्यूनतम प्रतिशत प्रावधान में छूट

रायपुर। मंगलवार,19 मई 2020: कोविड-19 संक्रमण के फलस्वरूप शिक्षा विभाग द्वारा कक्षा 10वीं और 12वीं कक्षा को छोड़कर शेष कक्षाओं के विद्यार्थियों को जरनल प्रमोशन दिए जाने के कारण विद्यार्थियों को सामान अवसर प्रदान करने के उद्देश्य से आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास विभाग द्वारा प्रदेश में संचालित प्रयास आवासीय विद्यालयों और एकलव्य विद्यालयों में प्रवेश परीक्षा के लिए निर्धारित न्यूनतम प्रतिशत अंक के प्रावधानों में इस वर्ष छूट देकर विद्यार्थियों को राहत प्रदान की है।

आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास मंत्री डॉ.प्रेमसाय सिंह टेकाम ने बताया कि प्रयास आवासीय विद्यालयों में कक्षा 9वीं में प्रवेश के लिए कक्षा 8वीं में न्यूनतम 60 प्रतिशत अंक और इसी प्रकार एकलव्य विद्यालयों में कक्षा 6वीं में प्रवेश के लिए कक्षा 5वीं में न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक का प्रावधान था। इस वर्ष इन विद्यालयों में प्रवेश के प्रावधान को शिथिल किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रयास आवासीय विद्यालयों में परीक्षा फॉम भरने की निर्धारित तिथि 15 मई में वृद्धि कर 30 मई कर दिया गया है। प्रयास आवासीय विद्यालयों में प्रवेश परीक्षा की तिथि 24 मई में भी वृद्धि कर 9 जून कर दिया गया है। इसी प्रकार एकलव्य विद्यालयों में 31 मई को होने वाली प्रवेश परीक्षा अब 11 जून को आयोजित होगी। इसके साथ ही एकलव्य विद्यालयों की विभिन्न कक्षाओं में रिक्त सीटों को भरने की अनुमति भी प्रदान की गई है।

डॉ. टेकाम ने बताया कि विभाग द्वारा विपरीत परिस्थितियों में भी आगामी शिक्षण सत्र को ध्यान में रखते हुए एकलव्य विद्यालयों में कक्षा 6वीं में प्रवेश के लिए तथा प्रयास आवासीय विद्यालयों में कक्षा 9वीं में प्रवेश परीक्षा का आयोजन लॉकडाउन अवधि समाप्त होने के उपरांत फिजिकल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए जून माह में करा लिए जाने का प्रयास किया जा रहा है, ताकि आगामी शिक्षण सत्र में समय पर इन विद्यालयों में चयनित विद्यालयों के प्रवेश की कार्रवाई और शिक्षण प्रारंभ किया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *