कोरोना देश में:24 घंटे में एक्टिव केस में 7.5 हजार की बढ़ोतरी, यह 98 दिन में सबसे ज्यादा

देश में फिर एक बार नए केस ज्यादा रहे और इसके मुकाबले ठीक होने वाले मरीजों की संख्या कम रही। इससे एक्टिव केस में बढ़ोतरी हो गई। बीते 24 घंटे में 44 हजार 699 नए केस आए, 36 हजार 582 मरीज ठीक हुए और 518 की मौत हो गई। इस तरह इलाज करा रहे मरीजों की संख्या, यानी एक्टिव केस में 7586 की बढ़ोतरी हो गई। यह 19 अगस्त के बाद सबसे ज्यादा है। तब 8847 मरीज बढ़े थे।

कुल एक्टिव केस का आंकड़ा भी नौ दिन बाद बढ़कर साढ़े चार लाख के पार हो गया है। इससे पहले 16 नवंबर को 4.53 लाख एक्टिव केस थे। यह घटते हुए 23 नवंबर को सबसे कम 4.37 हजार हो गए थे। देश में अब तक कोरोना के 92.66 लाख केस आ चुके हैं। इनमें से 86.77 लाख मरीज ठीक हो चुके हैं और 1.35 लाख की मौत हो चुकी है। ये आंकड़े covid19india.org से लिए गए हैं।
20 राज्यों में दूसरी लहर की आहट

देश में अब 20 राज्य ऐसे हैं जहां एक्टिव मरीजों की संख्या फिर से बढ़नी शुरू हो गई है। इसमें उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, राजस्थान, पंजाब, महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल भी शामिल हैं। इन राज्यों में हर दिन ठीक होने वाले मरीजों से ज्यादा नए केस आ रहे हैं। मतलब यहां कोरोना की दूसरी लहर ने आहट दे दी है। अगर यही आलम रहा तो अगले 3-4 दिन में पूरे देश में दूसरी लहर शुरू हो सकती है।

कोरोना अपडेट्स

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बुधवार को यूपी में कोरोना के बढ़ते मामलों पर चिंता जताई। कोर्ट ने राज्य सरकार को सोशल डिस्टेंसिंग और फेस मास्क के नियमों का सख्ती से पालन कराने, साथ ही उन पर ड्रोन से नजर रखने का आदेश दिया।
पंजाब के सभी शहरों में 1 दिसंबर से नाइट कर्फ्यू रहेगा। यह कर्फ्यू रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक लागू रहेगा। इसके अलावा कोरोना से जुड़े नियम तोड़ने पर 1000 रुपए जुर्माना लगाया जाएगा। होटल, रेस्टोरेंट और वेडिंग वेन्यू रात साढ़े नौ बजे तक बंद करने होंगे।
लखनऊ में 1 दिसंबर तक धारा-144 लागू कर दी गई है। इस दौरान एकसाथ 4 लोग से ज्यादा एक जगह पर नहीं जुट सकेंगे। प्रशासन ने हिदायत दी है कि नियम तोड़ने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।
केंद्र ने बुधवार को कोरोना पर नई गाइडलाइन जारी की। इसमें राज्यों से सख्ती और सावधानी बरतने को कहा गया। राज्यों को हालात के हिसाब से पाबंदियां लागू करने की छूट दी गई है। वे कंटेनमेंट जोन में नाइट कर्फ्यू भी लगा सकते हैं। हालांकि, कंटेनमेंट जोन के बाहर स्थानीय स्तर पर लॉकडाउन लगाने के लिए केंद्र की मंजूरी लेनी होगी। यह गाइडलाइन 1 दिसंबर से लागू होगी।
मध्यप्रदेश के सागर में तैनात कोविड-19 मेडिकल ऑफिसर शुभम उपाध्याय की बुधवार को कोरोना से मौत हो गई। वे 26 साल के थे। उन्होंने भोपाल के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में आखिरी सांस ली। वे सागर के सरकारी बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में पोस्टेड थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *