कातिल मां का कबूल नामा:भोपाल में गिरफ्तार होने के बाद महिला बोली- प्रेमी को नहीं खोना चाहती थी, इसलिए एक साल की बेटी को पानी में फेंका, शिवम की गलती से पकड़े गए

भोपाल में तीन दिन पहले अपनी एक साल की मासूम बेटी को जिंदा बड़े तालाब में फेंकने वाली मां का कबूलनामा पुलिस को भी अब हैरान कर रहा है। उसे कितना अफसोस है यह तो वह नहीं बता पा रही, लेकिन इतना वह कह रही है कि उसके पास इसके सिवा कोई रास्ता नहीं बचा था। वह अपने प्रेमी को खोना नहीं चाहती थी, इसलिए बेटी को रास्ते से हटा दिया।
इधर, शिवम की फोन करने की एक गलती ने उसे सलाखों के पीछे पहुंचा दिया। पुलिस ने आरोपी महिला और उसके प्रेमी को सोमवार दोपहर करीब 2:00 बजे लालघाटी स्थित हलालपुरा बस स्टैंड से गिरफ्तार कर लिया। दोनों बस पकड़कर भोपाल से बाहर भागने की फिराक में थे।

थाना प्रभारी तलैया डीपी सिंह के अनुसार सोनम को अपनी बेटी की मौत का कोई खास अफसोस नजर नहीं आया। पकड़े जाने के बाद भी यही कहती रही कि उसे उसका पति मारता है। घर वाले भी डांटते हैं, इसलिए उसने यह कदम उठाया।

पूछताछ में 23 वर्षीय सोनम ने पुलिस को यह बताया- शादी के बाद से ही पति जितेंद्र चौरसिया से झगड़ा होने लगा था।वह मारपीट करता था। इसलिए मेरा मन नहीं लगता था। शिवम से मेरी पहचान कॉलेज के समय से थी। हम एक दूसरे को प्यार करने लगे थे। 16 सितंबर के तड़के करीब 3 बजे मैं घर से बेटी को लेकर औबेदुल्लागंज से रायसेन अपने मायके आ गई। पिता के पूछने पर मैंने बताया कि जितेंद्र मारपीट करता है। पापा ने डांटा भी था, तो 17 तारीख की सुबह 11:00 बजे वहां से शिवम के साथ चली गई। हम भोपाल आ गए। वीआईपी रोड पर मैंने अपनी बेटी को पानी में फेंक दिया। उसका सिर किसी चीज से टकराया भी था। फिर मैं रोने लगी और गोताखोर आ गए, तो मैंने कहानी बना दी। शिवम के आने के बाद हम वहां से रायसेन कोतवाली थाने पहुंचे और मैंने पुलिस को बताया कि पति मारपीट करता है। इसलिए मैं शिवम के साथ जा रही हूं। उसके बाद शिवम के साथ भोपाल चली आई। सब मुझे डांटते हैं। शिवम एक ही है जो मुझे प्यार करता है। मैं उसे किसी भी कीमत पर नहीं खोना चाहती थी। इसलिए बेटी को मार दिया।

यह पूरी घटना

थाना प्रभारी सिंह ने बताया कि 17 की शाम सोनम ने बेटी को पानी में फेंक दिया था। उसके बाद वह शिवम के साथ भाग गई थी। इससे पहले 16 की सुबह जब वह घर से गायब हो गई थी, तो पति जितेंद्र ने शाम को उसकी रिपोर्ट कराई थी। उसके बाद से ही उसे खोज रहे थे। इधर बच्ची का शव शुक्रवार सुबह मिला, तो शनिवार देर रात उसकी शिनाख्त हो सकी थी। उसके बाद से ही सोनम और शिवम की तलाश की जा रही थी। आज उन्हें हलालपुरा बस स्टैंड से गिरफ्तार कर लिया है। अब पूछताछ के बाद न्यायालय में पेश कर देंगे

ऐसे पहुंची पुलिस आरोपी तक

पुलिस आरोपी की तलाश लगातार कर रही थी। उनके भोपाल में कोई कनेक्शन नहीं होने के कारण उनका पता नहीं चल रहा था। इसी दौरान शिवम की उसके भाई से फोन पर बात हुई। बातों ही बातों में उसने बताया कि वह भोपाल में है। इसके बाद पुलिस खोजते-खोजते उस तक पहुंच गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort