Uncategorizedभोपालमध्य-प्रदेश

कांग्रेस पर भाजपा का पलटवार:विश्वास सारंग बोले-

वैक्सीनेशन पर कांग्रेस भ्रम फैला रही, सरकार में रहते उन्होंने भ्रष्टाचार का रिकॉर्ड बनाया, हमने जान बचाने वैक्सीन लगवाने का

मध्य प्रदेश में 21 जून को वैक्सीनेशन के महाअभियान के दिन बने रिकॉर्ड को लेकर कांग्रेस के आरोप पर भाजपा ने जवाब दिया है। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने बुधवार को कहा कि कांग्रेस के नेताओ ने अपने दिव्यज्ञान को प्रकट करते हुए वैक्सीनेशन महा अभियान पर भ्रम फैलाने वाले ट्वीट किए है। कमलनाथ ने 15 महीने में जनता का विकास नहीं किया सिर्फ एक रिकॉर्ड बनाया भ्रष्टाचार करने का। हमने वैक्सीन लगाने का रिकॉर्ड बनाया है।

कांग्रेस नेताओं ने देश मे इतने बड़े बड़े पदो पर रहने के बाद भी झूठे आंकड़े दिए है। सारंग बोले जो दिन कांग्रेस गिना रही है उस दिन प्रदेश में वैक्सीन लगी ही नहीं है। सरकार सप्ताह में चार दिन ही कोरोना की वैक्सीन लगा रही है। सोमवार, बुधवार, गुरुवार और शनिवार है। मंगलवार और शुक्रवार को बच्चों को वैक्सीन लगाई जाती है। रविवार को छुट्‌टी रहती है। 20 जून को रविवार था। मध्य प्रदेश सरकार का कोई वैक्सीनेशन प्रोग्राम नहीं था।

22 जून मंगलवार के दिन कांग्रेस का नेताओं ने कहा कि 4 हजार लोगों को वैक्सीन लगी। इस दिन भी सरकार का कोई वैक्सीनेशन का प्रोग्राम नहीं था। आकड़े निजी क्षेत्र के है। निजी क्षेत्र अपने अनुसार 7 दिन वैक्सीनेशन कार्यक्रम करते है।

सारंग बोलेआज ढाई बजे तक 6 लाख को वैक्सीन लगी

सारंग ने बताया कि बुधवार को 2.30 बजे तक 6 लाख लोगों को वैक्सीन लगी है। यूपी में अभी तक 3 लाख वैक्सीन लगी है, दूसरे नंबर पर आज मप्र में लगी है। सारंग ने कहा कि कांग्रेस के नेताओं का ट्वीट जनता के खिलाऊ है। मैं मांग करता हूं कांग्रेस नेता अपने यह ट्वीट डिलीट करें।

कांग्रेस नेताओं ने यह किया ट्वीट

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट किया कि मध्य प्रदेश में टीकाकरण अभियान को लेकर बड़ी धांधली सामने आ रही है। एक दिन में 17 लाख टीके लगते हैं जबकि उसके अगले और पिछले दिन कुछ सौ टीके लगते हैं। सरकार को इस बारे में स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए। क्योंकि यह करोड़ों लोगों के जीवन का सवाल है।

कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने ट्वीट किया कि रविवार को जमाखोरी, सोमवार को टीका लगाएं और मंगलवार को लंगड़ाकर वापस लौट जाएं। “एक दिन” के टीकाकरण के विश्व “रिकॉर्ड” के पीछे यही रहस्य है। मुझे यकीन है कि इस “करतब” को गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में जगह मिलेगी!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close