कांग्रेस के ही दो पूर्व विधायकों के बीच टक्कर, जनता के मुद्दे गायब, चुनावी जंग में कौआ और पंछी जैसे शब्दों के तीर

सांवेर विधानसभा क्षेत्र -211 में भाजपा के तुलसी सिलावट और कांग्रेस के प्रेमचंद गुड्डू एक-दूसरे को चुनौती दे रहे हैं। राेचक बात यह है कि दोनों ही नेता सांवेर से ही कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीतकर विधायक बने। इस सबके बीच, कांग्रेस और भाजपा दाेनाें ही दल जनता के मुद्दाें काे भूलकर जुबानी लड़ाई में व्यस्त हैं। कांग्रेस के गद्दार और बिकाऊ के आरोप पर भाजपा किसान की कर्जमाफी ना होना, युवाओं को बेरोजगारी भत्ता ना देने का आरोप लगाकर पलटवार कर रही है। चुनावी जंग अब कौआ और पंछी शब्द पर जा पहुंची है। भाजपा प्रत्याशी तुलसी सिलावट ने कांग्रेस प्रत्याशी प्रेमचंद गुड्डू को ‘पंछी’ कहा तो गुड्डू ने पलटवार करते हुए सिलावट को ‘कौआ’ कह डाला। यहां, फसल बर्बादी, सड़कों की बदहाली, कर्जमाफी जैसे जमीनी मुद्दे कौआ और पंछी के शोर में दब गए हैं।

कांग्रेस के आरोप

सांवेर-उज्जैन रोड स्थित एक होटल में 2 हजार लोगों को एकत्र करने, साड़ी, रुपए बांटने की चुनाव आयोग में शिकायत की। सिलावट पर कार्रवाई की मांग भी की।
सांवेर रोड पर कार में रुपए मिले। कांग्रेस प्रत्याशी गुड्डू ने सिलावट पर आरोप लगाते हुए डीआईजी से शिकायत की।
इंडेक्स कॉलेज में छह हजार वोटरों के नाम बढ़ाने पर गुड्डू मौके पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि भाजपा के इशारे पर यह हो रहा है।
कांग्रेस ने सीएम की सभा के लिए 600 बसों का अधिग्रहण, बस संचालकों को रुपए देने और खाद्य विभाग द्वारा सभी बसों में डीजल की व्यवस्था करने की चुनाव आयोग को शिकायत की।
भाजपा के आरोप

सोशल मीडिया पर मंत्री तुलसी सिलावट के खिलाफ टिप्पणी पर भाजपा ने चुनाव आयोग और पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई। मामला जांच में है।
बिना अनुमति बड़ी मात्रा में पोस्टर कारों में रखकर चुनाव क्षेत्र में ले जाने पर पुलिस ने पकड़ा। भाजपा ने चुनाव आयोग को शिकायत की।
भाजपा युवा मोर्चा की कानूनी समिति ने सांवेर के ग्राम रिंगनोदिया के कांग्रेस कार्यकर्ता के खिलाफ सोशल मीडिया पर सीएम के खिलाफ भद्दी भाषा में टिप्पणी के खिलाफ निर्वाचन आयोग और पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई।
कांग्रेस प्रत्याशी और साथियों द्वारा मेडिकल कॉलेज में घुसकर छापा मारने के मामले में महिलाओं से हुई कथित बदसलूकी की शिकायत भी पुलिस और आयोग को भेजी गई।
भाजपा का जातिगत समीकरण गड़बड़ाया
सांवेर विधानसभा क्षेत्र उपचुनाव में भाजपा के लिए वोटों का जातिगत समीकरण गड़बड़ाने लगा है। कुछ समाज भाजपा से नाराज बताए जा रहे हैं। यही नहीं पार्टी को अब भी ग्रामीण क्षेत्र में उस माहौल का इंतजार है, जिसमें जीत की पक्की गारंटी दिखे। इसके लिए पार्टी जल्द यहां शिवराज-सिंधिया का बड़ा रोड शो करवाने की तैयारी में है। यह रोड शो कम से कम 10 किमी का होगा। वहीं, ठाकुर वोटों के लिए भाजपा केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथसिंह की सभा करवाने की कोशिश में है। हालांकि पार्टी ने मंत्री उषा ठाकुर को सांवेर का जिम्मा सौंप रखा है और लगातार नाराज वर्ग से बात कर रही है, लेकिन भाजपा सांवेर के मामले में कोई रिस्क नहीं लेना चाहती। यही वजह है कि खुद शिवराज दो बार आ चुके हैं और अभी कम से कम दो से तीन बार और आएंगे।

ये है जातिगत वोटों का गणित
इस सीट पर करीब 40 हजार मतदाता दलित हैं, जबकि करीब 35 हजार मतदाता खाती समाज के और 30 हजार मतदाता कलोता राजपूत समाज के माने जाते हैं, जबकि राजपूत और धाकड़ समाज के 15-15 हजार वोट सांवेर विधानसभा सीट में हैं।

सांवेर में अब तक एक उपचुनाव सहित 14 बार विस चुनाव हुए

सांवेर में 1970 के एक उपचुनाव समेत अब तक 14 बार विधानसभा चुनाव हो चुके हैं। 1962 में हुए पहले चुनाव से 2018 में हुए विस चुनाव में अब तक 98 उम्मीदवारों ने यहां से अपनी किस्मत आजमाई है। यहां से अब तक सबसे ज्यादा 7 बार कांग्रेस, 5 बार भाजपा, एक बार जनसंघ और एक बार जनता पार्टी का उम्मीदवार जीता है। सिलावट सांवेर से तीन बार तो गुड्‌डू ने 1998 में यहीं से विधायकी का चुनाव जीता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.