कर्नाटक के DGP पी रवींद्रनाथ ने दिया इस्तीफा

कारण बताया- कर्नाटक सरकार जांच रोकने का दबाव बना रही थी

कर्नाटक डीजीपी रवींद्रनाथ ने मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। इसके पीछे उन्होंने राज्य सरकार को जिम्मेदार बताया है। प्रवीण का कहना है उनका उत्पीड़न हो रहा था। इस बात के सामने आते कर्नाटक की राजनीति में हड़कंप मच गया है। रवींद्रनाथ ने कहा कि नकली एससी/ एसटी प्रमाणपत्र का इस्तेमाल करने वाले लोगों के खिलाफ उनकी जांच को लेकर कर्नाटक सरकार रोकने का दबाव बना रही थी।

रवींद्रनाथ ने एक दिन पहले कहा था कि वह मंगलवार सुबह मुख्य सचिव पी रवि कुमार से मुलाकात के बाद इस्तीफा दे देंगे। 1989 बैच के इस अधिकारी को इस्तीफा देने और बाद में उसे वापस लेने के लिए जाना जाता है। इसके पहले उन्होंने 2008, 2014 और 2020 में भी अपना इस्तीफा दे दिया था।

महबूबा मुफ्ती ने दी BJP को चुनौती, बोलीं- दम है तो ताजमहल, लाल किले को मंदिर बनाकर दिखाएं

जम्मू कश्मीर की पूर्व CM और PDP प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने भाजपा पर निशाना साधा है। मुफ्ती ने कहा कि यह लोग मुगलों के समय में बनी हुई चीजों जैसे ताजमहल, मस्जिदें, किलों को बिगाड़ने के पीछे पड़े हुए हैं। इससे कुछ हासिल नहीं होगा। अगर दम है तो ताजमहल, लाल किले को मंदिर बनाकर दिखाएं, फिर देखते हैं कि कितने लोग इस देश को देखने के लिए आते हैं।

कुतुब मीनार के बाहर यूनाइटेड हिंदू फ्रंट के लोगों ने किया चालीसा का पाठ, नाम बदलकर विष्णु स्तंभ करने की मांग

यूनाइटेड हिन्दू फ्रंट के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जय भगवान गोयल ने अन्य हिन्दू संगठनों के साथ मंगलवार को कुतुब मीनार परिसर में हनुमान चालीसा का पाठ किया। हिंदू संगठन महाकाल मानव सेवा के सदस्य कुतुब मीनार के पास विरोध कर रहे हैं। उनकी मांग है कि कुतुब मीनार का नाम बदलकर विष्णु स्तम्भ किया जाए। हिन्दू संगठनों का कहना है कि कुतुब मीनार परिसर स्थित मस्जिद के ढांचे पर लगीं सभी मूर्तियां निकालकर इन्हें प्रतिष्ठित किया जाए और वहां पूजा करने की अनुमति दी जाए।

गृह मंत्री का बड़ा बयान, बोले- जल्द ही पूरे असम से AFSPA को हटा लिया जाएगा

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने असम पुलिस को ‘प्रेसिडेंट कलर अवार्ड’ दिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि केंद्र और मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के प्रयासों से अधिकांश आतंकवादी संगठनों ने शांति समझौते किए हैं और वह दिन दूर नहीं है। जब पूरा राज्य उग्रवाद और हिंसा से पूरी तरह मुक्त हो जाएगा। बता दें कि AFSPA को असम के 23 जिलों से पूरी तरह और एक जिले से आंशिक रूप से निरस्त कर दिया गया है।

पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट से तेजिंदर बग्गा को राहत, 5 जुलाई तक गिरफ्तारी पर रोक

पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट से दिल्ली के भाजपा प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा को बड़ी राहत मिली है। कोर्ट ने 5 जुलाई तक बग्गा की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। बग्गा पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ टिप्पणी करने के मामले में IT एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया था।

प्रसिद्ध संतूर वादक पंडित शिव कुमार शर्मा का 84 साल की उम्र में निधन, ‘चांदनी’ फिल्म में दिया था संगीत

मशहूर संगीतकार और प्रसिद्ध संतूर वादक पंडित शिव कुमार शर्मा का मंगलवार को 84 साल की उम्र में निधन हो गया। बताया जा रहा है कि उनकी मौत हार्ट अटैक से हुई। वह पिछले कई महीने से किडनी संबंधी समस्याओं से पीड़ित थे। उन्होंने मुंबई में आखिरी सांस ली। शर्मा और बांसुरीवादक पंडित हरि प्रसाद चौरसिया की जोड़ी ने सिलसिला, लम्हे, चांदनी जैसी कई फिल्मों के लिए संगीत तैयार किया था।

MP में निकाय चुनाव पर ‘सुप्रीम’ फैसला, OBC आरक्षण के बिना ही पंचायत-निकाय इलेक्शन होंगे

मध्य प्रदेश में स्थानीय निकाय और पंचायत चुनाव को लेकर सुप्रीम कोर्ट का नया आदेश आया है। इसके अनुसार, राज्य में OBC आरक्षण के बिना ही चुनाव होंगे। कोर्ट ने चुनाव आयोग को 2 हफ्ते में अधिसूचना जारी करने के लिए कहा है। इसके अलावा कोर्ट ने कहा कि यह आदेश सिर्फ मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के लिए ही नहीं, बल्कि शेष राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों पर भी लागू होगा।

चारधाम यात्रा में अब तक 20 श्रद्धालुओं की मौत, 9 लाख से अधिक यात्रियों ने कराया रजिस्ट्रेशन

3 मई से शुरू हुई चारधाम यात्रा में अब तक 20 श्रद्धालुओं की मौत हो चुकी है। इसे लेकर CM धामी आज देहरादून में समीक्षा बैठक कर रहे हैं। वहीं, उत्तराखंड सरकार ने बताया कि अब तक 9.5 लाख से अधिक यात्री पंजीकरण कर चुके हैं। सबसे ज्यादा 3.35 लाख केदारनाथ के लिए रजिस्ट्रेशन हुए हैं। सभी चार धामों में निर्धारित क्षमता से तीन गुना अधिक श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं।

शरद पवार ने की राजद्रोह हटाने की वकालत, NCP चीफ ने बोले- यह अंग्रेजों का काला कानून

एनसीपी प्रमुख शरद पवार राजद्रोह कानून हटाने की वकालत की। उन्होंने कहा कि अंग्रेजों द्वारा 1890 में शुरू किए गए राजद्रोह कानून के अब कोई मायने नहीं रह गए हैं। यह कानून विद्रोह को दबाने के लिए अंग्रेजों द्वारा लाया गया था। इस काले कानून के तहत सरकार किसी के भी खिलाफ आरोप लगा सकती है और उन्हें जेल भेज सकती है। देश के नागरिकों को अपने सवालों के लिए सरकार के खिलाफ विरोध करने का अधिकार है। इसलिए, इस कानून का अब उपयोग करना उचित नहीं है। 

2021 में नगालैंड के मोन जिले में हुई गोलीबारी की घटना की जांच पूरी, जल्द सामने आएगी रिपोर्ट

नगालैंड के मोन जिले में पिछले साल 4 दिसंबर को हुई गोलीबारी की घटना की जांच पूरी हो चुकी है। सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि रिपोर्ट के अब कानूनी पहलुओं पर जांच हो रही है। बता दें कि इस घटना में एक जवान समेत 15 लोगों की मौत हो गई थी।

अफगानिस्तान में जान गंवाने वाले फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी को मिलेगा पुलित्जर पुरस्कार

साल 2022 के लिए पुलित्जर पुरस्कार की घोषणा कर दी गई है। इस साल फीचर फोटोग्राफी के लिए अदनान आबिदी, सना इरशाद मट्टू, अमित दवे और अफगानिस्तान में जान गंवाने वाले दानिश सिद्दीकी को यह पुरस्कार दिया गया है। यह दानिश का दूसरा पुलित्जर पुरस्कार है। पिछले साल दानिश की अफगानिस्तान जंग में कवरेज के दौरान मौत हो गई थी। उस वक्त दानिश समाचार एजेंसी रॉयटर्स के लिए कंधार में काम कर रहे थे।

यूं सुक-योल ने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली

यूं सुक-योल ने मंगलवार को सियोल की नेशनल असेंबली में दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली। प्योंगयांग के साथ सख्त होने की कसम खाने वाले कट्टर रूढ़िवादी यूं सुक-योल ने कहा- “मैं लोगों के सामने शपथ लेता हूं कि मैं राष्ट्रपति के कर्तव्यों का ईमानदारी से पालन करूंगा।”

राजौरी में एक व्यक्ति सोशल मीडिया पर संवेदनशील पोस्ट शेयर करने के आरोप में गिरफ्तार

जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर संवेदनशील फोटो शेयर करने के आरोप में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि सूचना मिली थी प्रेम नाम के युवक सोशल मीडिया पर संवेदनशील फोटो शेयर किया है, जिससे धार्मिक समूहों के बीच हिंसा भड़क सकती है। बुढल पुलिस स्टेशन में कानून की संबंधित धारा के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है और मामले की जांच की जा रही है।

नागपुर रेलवे स्टेशन पर विस्फोटक सामग्री मिलने से हड़कंप, मौके से पुलिस बल तैनात

नागपुर रेलवे स्टेशन पर संदिग्ध सामान से भरा एक बैग मिला। Railway Security Force (RPF) और Bomb Detection and Disposal Squad (BDDS) बम का पता लगाने और डिफ्यूज करने वाली टीमें इसकी जांच कर रही हैं। अमितेश कुमार, पुलिस आयुक्त, नागपुर शहर ने बताया कि बैग में बहुत कम विस्फोटक सामग्री वाले 54 डेटोनेटर पाए गए हैं। टीमें आगे की जांच कर रही हैं।

शोपियां के पंडोशन इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बताया कि शुरुआती घेराबंदी और तलाशी अभियान में आतंकियों ने नागरिकों पर गोलियां चलाई और भागने का प्रयास किया। गोलीबारी में दो नागरिक घायल हुए जिन्हें श्रीनगर अस्पताल पहुंचाया गया है, जिसमें से एक की हालत गंभीर है। मुठभेड़ में एक सैनिक भी घायल हुआ है जिसे अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort